zindagiin2lines

www.instagram.com/zindagiin2lines/

हिन्दी Original Content☺️ Do follow on instagram also if you like��

Grid View
List View
Reposts
  • zindagiin2lines 1d

    आदिम निकला बस्ती में
    कुछ सुकूं तो मिले
    हाले कारवां देख
    घर को हो लिए

  • zindagiin2lines 1d

    कौन कहता है
    माटी की खुशबु अलग है
    कहीं महल तो कहीं
    झोपड़ों का फर्क है
    ©zindagiin2lines

  • zindagiin2lines 1d

    खाकर जहर जमाने का
    वो बादशाह बने
    पनाहों में रख दी जिंदगी
    उलबिलाव उड़ चले
    ©zindagiin2lines

  • zindagiin2lines 2w

    अकेले दम बहुत निकला
    भीड़ कारवां ले चली

  • zindagiin2lines 2w

    आशनाई जो चमकी तेरी रहमत की
    गुले गुलजहाँ हो गया
    पैरवी अब खुदा की
    महबूब हो ग ई
    ©zindagiin2lines

  • zindagiin2lines 2w

    हम जो बोल नहीं पाते
    फिर बोलने वाला
    गुरु खोज लेते हैं
    ©zindagiin2lines

  • zindagiin2lines 3w

    रंजिशें तो हम भी निभा लें
    इक दफा मुहब्बत जो कर ली
    ©zindagiin2lines

  • zindagiin2lines 3w

    वक्राकार चरखीदार ए मौसम
    तुझे भी हवा लग गई जमाने की
    ©zindagiin2lines

  • zindagiin2lines 3w

    मुसव्वर जब ढला तीरगी
    इबादत रंगों ने लिख दी
    ©zindagiin2lines

  • zindagiin2lines 4w

    हम समुन्दर पे ग ए
    हमने सेल्फियां खींची
    उससे बात नहीं की
    ©zindagiin2lines