vivekkumarsahoo121

कलम का फकीर पागल, आवारा

Grid View
List View
  • vivekkumarsahoo121 78w

    वो

    मुसाफिर निकली साली।
    बेवफा होती तो इतना दर्द ना देती।
    जिंदगी में जिंदगी की कसर निकली।
    मैं हमसफ़र समझ रहा था।
    पर वह सर्फर्स निकली।
    ©vivek Kumar sahoo