Grid View
List View
Reposts
  • vipin_vn 58m

    #Mirakee #hindi collab #April / 21/2021
    Collab with @iamfirebird,

    Read More

    बहुत जरूरी है अब कुछ दुश्मन बनाये जाँए
    दुश्मन सामने खड़े ऐलान दुश्मनी का है करतें
    दोस्त वो जो जरुरत के समय ही मुँह फेर लेते
    साथ निभाने का वादा कर पीठ में ही वार करें
    ©vipin_vn

  • vipin_vn 10h

    जो दुःख को ही सुख मान मुस्काया है
    ये खुशी जा उसके पास रही है।
    ©vipin_vn

  • vipin_vn 10h

    #Mirakee #hindinama #hindi poetry
    #April/21/2021

    सच्चा प्यार एक कठिन डगर है कांटों पर चलना
    एक आग का दरया है, और डूब के है जाना
    प्यार हो जाता है किया नहीं जाता..
    और हुआ हो तो इस तरह होना
    उसे मांगना नहीं है.. सीखो बाँटना या लुटाना..

    Read More

    सच्चा प्यार एक कठिन डगर,
    है काँटों पर चलना
    एक आग का दरिया,
    और डूब के है जाना..
    जिस्म का जिस्म से नहीं..
    हो दो दिलों का मिलना..
    उनकी चाहत का पता
    उनसे पहले हो जाना..
    उन्हें खिलते मुस्कुराते देख
    खुद खुश हो जाना..
    उनके दुःख दूर, कमियां हो पूरी
    उस वजह से उनका ही अंजान रहना..
    प्यार सिर्फ निस्सीम, निस्वार्थ,
    निश्छल, निरामय, निर्विकार होना..
    अडिग, अभेद, अतुलनीय
    अनुपम, अभिनव, अनंत होना..
    प्यार एकतरफा या दोतरफ़ा हो
    हो तो ऐसा नायाब हो, ना हो वरना..
    क्या कर पाओगे ऐसा प्यार??
    यही है प्यार, करो तो ऐसा करना...
    ©vipin_vn

  • vipin_vn 2d

    नारी कि अपार महिमा गाते हुए मेरी कलम सदा ही बहती रहीं है, पर आज अंदर से हिल गया हूं । आज एक टीवी शो देखा है । एक बच्ची को उसके दादी ने 6 साल कि उम्र होगई अबतक छुआ नहीं।
    मै आज इस कड़वी सच्चाई वो ये के
    औरत ही औरत कि सबसे बड़ी दुश्मन है
    इस विषय पर आप सभी महानुभावों के विचारों
    का मंथन चाहूंगा । आप हम सभी कि दायित्व है इस पर प्रकाश डालें । आप सभी सविनय आमंत्रित हैं ����


    #Mirakee #hindiQuotes #hindinama
    #April 19/2021

    Read More

    स्त्री तुम अपना अस्तित्व
    खुद ही निगल सकती हो...!
    खुद के वजूद को खुद कि
    नफरत से मिटा सकती हो...!
    खुद का सृजन खुद उखाड़
    फेंक उसे सूखा सकती हो...!
    खुद के अंश का खून कैसे
    और क्यों कर सकती हो?????
    कोई नारी ही परिभाषित करे.....!
    ©vipin_vn

  • vipin_vn 4d

    #Mirakee #hindi Quotes #आज का ताज़ा हाल आपके लिए किसी अज्ञात लेखक का हाजिर है इस कटुसत्य क स्वीकार करें ������
    ��सब से बात करें, सब कि खैर खबर लेते रहिये
    सोचना बंद करें खुश रहिये घर पर रहें सुरक्षित रहें
    ��������������������

    Read More

    पके हुए आम गिरने के मौसम में
    पके हुए इन्सानों के एक के बाद एक
    गिरने का मौसम आया है..
    "रस" पिने के दिनों में "लस" लेना पड़ रहा है
    जीतनी आसानी से लोग "सॉरी", "थैंक" यू कहते
    उतनी ही आसानी से "भावभीनी श्रद्धांजलि"
    कहना पड़ रहा है..
    जिंदगी भर जद्दोजहद से कमाई पूंजी
    गाड़ी, बांगला, प्लाट, फ्लैट, खेत खलियान,
    अहंकार आकांक्षा इर्षा सब यहीं छोड़ जाना पड़ रहा है..
    लोग कुछ दिन इमोशन में लिखेंगे, डी पी रखेंगे
    फिर अगला कोई गया डी पी बदलते रहेगी
    लोग पलभर कहेंगे हाय हाय..!

  • vipin_vn 4d

    अज्ञात लेखक
    अच्छी है जिंदगी से जुडी है ।
    इसलिए सबके लिए ।

    Read More

    घरटे उडते वादळात
    बिळा-वारूळात पाणी शिरते
    कोणती मुंगी? कोणतं पाखरू?
    म्हणून आत्महत्या करते?

    प्रतिकूल परिस्थितीतही
    वाघ लाचारीने जगत नाही
    शिकार मिळाली नाही म्हणून
    कधीच अनुदान मागत नाही.

    घरकुलासाठी मुंगी
    करत नाही अर्ज
    स्वतःच उभारते वारूळ
    कोण देतो गृहकर्ज?

    हात नाहीत सुगरणीला
    फक्त चोच घेऊन जगते
    स्वतःच विणते घरटे छान
    कोणतं पॅकेज मागते?

    कुणीही नाही पाठी
    तरी तक्रार नाही ओठी
    निवेदन घेऊन चिमणी
    फिरते का कोणत्या योजनेसाठी?

    घरधन्याच्या संरक्षणाला
    धावून येतो कुत्रा
    लाईफ इन्शुरन्स काढला का?
    असं विचारत नाही मित्रा!

    राब राब राबून बैल
    कमावून धन देतात
    सांगा बरं कुणाकडून
    ते निवृत्तीवेतन घेतात?

    कष्टकऱ्याची जात आपली
    आपणही हे शिकलं पाहिजे
    पिंपळाच्या रोपासारखं
    पाषाणावर टिकलं पाहिजे

    कोण करतो सांगा त्यांना
    पुरस्काराने सन्मानित
    तरीही मोर फुलवतो पिसारा
    अन् कोकिळ गाते मंजुळ गीत

    मधमाशीची दृष्टी ठेव
    फुलांची काही कमी नाही
    मधाच्या पोळ्यासाठी मित्रा
    कोणतीच रोजगार हमी नाही

    घाबरू नको कर्जाला
    भय, चिंता फासावर टांग
    जीव एवढा स्वस्त नाही
    सावकाराला ठणकावूण सांग

    काळ्या आईचा लेक कधी
    संकटापुढे झुकला का?
    कितीही तापला सूर्य तरी
    समुद्र कधी सुकला का?

    निर्धाराच्या वाटेवर
    टाक निर्भीडपणे पाय
    तू फक्त विश्वास ठेव
    पुन्हा सुगी देईल धरणी माय

    निर्धाराने जिंकू आपण
    पुन्हा यशाचा गड
    आयुष्याची लढाई
    फक्त हिमतीने लढ...
    फक्त हिमतीने लढ...!!

  • vipin_vn 1w

    #Mirakee #hindi Poetry #hindinama
    # 9/April/2021

    Read More

    प्यार में बेसुध, अधीर ना रहिये
    प्यार सब्र से ही मुकम्मल किजीये
    चाँद हर दिन बढ़े..थोड़ा थोड़ा
    सब्र से... पूरे चाँद में तब्दील होता
    बेसब्र हम,चाह में सब्र कहां
    हम आज में जीते हैं... कल जो भी हो
    पूरा चाँद चाहिए, प्यार चाहिए.. क्यों न
    फिर.. हर रात अंधेरों में हो धसना
    प्यार हुआ तो प्यार तुरंत चाहिए
    नये ज़माने से हैं हम, हक़ तो है ना
    ©vipin_vn

  • vipin_vn 3w

    तनाव मुक्त हुआ,सालों बाद है सोया नींद गहरी
    भाग्य उदय तेरा आत्मसंतुष्टी होगी सुकून भरी
    ©vipin_vn

  • vipin_vn 3w

    #Mirakee #hindi Quotes #hindinama
    collab with @kumar_adi

    गैरजरूरी है आप को ये बताना के कैसे लिखें
    वे तो आप के अपने निकले जो खामियाँ गिनी
    महत्तम योगदान आप का है, जरा गौर फरमाएँ
    खामियाँ कुबूल की, उन्हें सुधारा.. सफलता मिली

    Read More

    महत्तम योगदान आप का है, जरा गौर फरमाएँ
    खामियाँ कुबूल की, उन्हें सुधारा.. सफलता मिली
    ©vipin_vn

  • vipin_vn 3w

    #Mirakee #hindi Poetry #hindinama
    #27/मार्च /2021
    आप सभी भाई बहन बेटियां दोस्तों को होली रंगोंत्सव की
    हार्दिक शुभकामनाऐं!.!������������������

    Read More

    ज़मी हो मानवता की
    अपनत्व की गोबर लिपाई
    ऊंच नींच,जाती भेद की समीधा रचाए
    क्रोध कपूर से अग्नि जलाएं..
    गुड़ संदेह का, द्वेष राल से,
    वासना शुद्धी का घी लें
    घर से हर कोई लालच विकार के
    काष्ठ,उपलें ले, आहुति दें अहंकार से
    निश्छल मन निस्वार्थ निरामय भाव
    हर घर का एक रंग लें कर मिलाव
    कई रंगों का मेल हो एक रंग इंद्राधनुषी
    अखंड भारत का, नींव मानवता की
    आओ सब मिल हाथों में हाथ लें
    विकार दहन कर एक इंद्रधानुषी रंग लें
    होली...का रंगोंत्सव में खुशी बाटें
    नाचें गाये हुड़दंग ठंडाई पी एक हो जाएं
    ©vipin_vn