Grid View
List View
  • vipin_ 157w

    इस दिल कि दिल्लगी भी
    न जाने कैसी है ।
    अनजान थी वो कुछ रोज़ पहले
    अब जान बन बैठी है।।
    ©vipin_