unpredictableink

www.instagram.com/shayarivalididi

आकांक्षा सिंह��|| Delhi || Uttrakhand || Aspirant || MPS

Grid View
List View
Reposts
  • unpredictableink 1d

    माँ सीता

    दशहरा,
    अधर्म पर धर्म की जीत।
    अधर्म कितना भी बलशाली क्यो न हो ..
    धर्म और सच्चाई के आगे पराजित हो ही जाता है।
    .
    अक्सर दशहरा आने पर हम कुछ विचारों में उलझ जाते है
    ये सभी विचार रावण या भगवान राम से संबंधित होते है
    पर एक अहम किरदार हम भूल जाते है
    .
    "माँ सीता"
    .
    माँ सीता पवित्र मिली ये रावण की मर्यादा नहीं
    माँ सीता का भगवान राम के प्रति समर्पण था
    ये युद्ध भगवान राम और रावण का ही नहीं माँ सीता का भी था
    इस युद्ध में उनका विश्वास उनका अटूट प्रेम विजय हुआ
    हर पल विरह अग्नि में जलते हुए
    रावण के अहंकार को चुनौती देते हुए
    राम नाम का जाप करते हुए
    राक्षसों के बीच जो अपने पत्नी धर्म का पालन करती रही
    यह युद्ध एक नारी के सम्मान....
    उनकी प्रतिष्ठा का भी था।।।
    .
    आप सभी को दशहरे की हार्दिक शुभकामनायें
    रावण के पुतले के साथ साथ अपने अंदर के रावण को भी जलाये

    ©unpredictableink

  • unpredictableink 1w

    Kbhi jo mai dagmagau mujko shambhal Lena...
    Lagta hai dar andhere se...andhere mein mujko apni baho mein pnah dena
    ©unpredictableink

  • unpredictableink 1w

    मैं बेनाम ही सही, मुझको बेनाम ही रहने दो।
    मेरे नाम के अलावा मुझको, तेरे नाम से जीने दो।
    सुनो, कुछ मत कहो
    मेरी मोहब्बत को बेपर्दा सारे आम होने दो।।
    ©unpredictableink

  • unpredictableink 1w

    प्यार होगा तो अब आंखों से होगा, चेहरा तो कमबख्त मास्क ने छुपा लिया।।
    ©unpredictableink

  • unpredictableink 1w

    ना जाने कितने ख़्वाब अधूरे रह गए,
    कुछ ज़माने की वज़ह से तो कुछ घर की परिस्थिति की वज़ह से
    दफन होगे।।
    ©unpredictableink

  • unpredictableink 1w

    मुझको कुछ यूं मानना लिया करो,
    मैं कितना भी रूठ जाऊँ तुम बस चाय पीला दिया करो।।


    ©unpredictableink

  • unpredictableink 5w

    चलो पूरी कर दे उस कहानी को... जो समाज के डर अधूरी छूट गई।।
    ©unpredictableink

  • unpredictableink 5w

    सुकून के लिए लिखती हूं......
    सुकून की तलाश में।।❣️
    ©unpredictableink

  • unpredictableink 6w

    जिन्दगी

    जिंदगी पास तो आ
    तुझे मैं गले लगाना चाहती हूं
    कुछ पल ही सही पर
    जी भर के तुझे जीना चाहती हूं।


    ©unpredictableink

  • unpredictableink 6w

    या तो हमसे यारी रखले ..

    या फिर दुनियादारी रखले...


    ©unpredictableink