Grid View
List View
Reposts
  • tarnnumsheikh9614 103w

    ये रात काली अंधेरा झगमग चारों ओर
    इतने सन्नाटे में भी मुझे एक शोर सुनायी है देता
    नजाने वो पल मुझसे दूर क्यू नहीं है जाता
    खुदको ही जीतने की ज़िद है मेरी खुदको ही हराना है
    मै भीड़ नहीं हु दुनिया की मेरे अंदर ज़माना है
    अब देखना ये है जीतती मै हु या मेरा हारना है।
    ©tarnnumsheikh9614

  • tarnnumsheikh9614 103w

    आँखे बंद करते ही वो ख़ामोशी भरा शोर नज़र आता है।
    ज़िंदगी में बीता वो पल हर रात मुझे रोन्धता है। वो कल मुझे मुझसे छीनता जा रहा है। वो सन्नाटा मुझे नोच रहा है। नजाने कैसे छूटेगी ये यादे मुझसे, जो मुझे सता रही है। जिंदगी मेरी ज़र ज़र कर मुझे पल पल रुला रही है।
    ©tarnnumsheikh9614

  • tarnnumsheikh9614 107w

    ये रात बेमौसम बरसात
    बेवजह ही बोहोत खुश हु मै आज
    शायेद ये बारिश से जुडे कुछ यादों का असर है।
    नजाने क्यू ये मेरा दिल हरबार बारिश की इन बूंदों देख झुम जाता है।
    शायेद ये मोहब्बत की शुरुआत का असर है।
    ये बरसात किसी अनजान की यादो का असर है।
    ©tarnnumsheikh9614

  • tarnnumsheikh9614 107w

    *अनगिनत शब ये बेमौसम बरसात की *
    दिला रहीं है याद कुछ अधूरे ख्वाबों की
    *वो याद कुछ खुशियों से भरे जज़्बातों की *
    ©tarnnumsheikh9614

  • tarnnumsheikh9614 109w

    अपने अपनो का दर्द बखूबी जानते हैं, इसीलिए अक्सर अपनो दिए ज़ख़्म ही गहरे होते हैं।
    ©tarnnumsheikh9614

  • tarnnumsheikh9614 109w

    वो कहेते है के हम पत्थर दिल है,
    वो कहेते है के हम पत्थर दिल है.....
    मगर यकीन माने, सीने हर दर्द छिपाकर
    सारी रात हम तकिए को भीगोते हैं।
    दिल और जज़्बाते हमारे पास भी है,
    मगर कम्बख़त ये किस्मत के
    कोई हमे समझ ही नहीं पाते।
    ©tarnnumsheikh9614

  • tarnnumsheikh9614 109w

    इन बेज़ुबान पन्नों पर दिल के कई जज़्बात लिखे हैं, बेशक हमने भी किसी पर बइम्तेहा यकिं किया था और आज उसीका सबब बुकत रहे हैं।
    ©tarnnumsheikh9614

  • tarnnumsheikh9614 109w

    बस कर ए ज़िन्दगी अब और मै सहे नहीं सकती
    ए ख़ुदा तु सुन लेना मेरी,
    क्योंकि मै किसी और से कहे भी नहीं सकती
    ©tarnnumsheikh9614

  • tarnnumsheikh9614 114w

    बच्चे

    बच्चों के इन नन्हें हतो को चांद सितारे छुने दो चार किताबे पढ़ने दो इन्हें आगे बढ़ने दो याद रखे आगे यहीं देश का भविष्य।
    ©tarnnumsheikh9614

  • tarnnumsheikh9614 115w

    बच्चे

    बच्चों के इन नन्हें हतो को चांद सितारे छुने दो चार किताबे पढ़ने दो इन्हें आगे बढ़ने दो याद रखे आगे यहीं देश का भविष्य।
    ©tarnnumsheikh9614