tarashaa

youtu.be/vQil9BFXW4I

shayara hu shayari karti hu, lafzo se khelti zaroor hu koi jurm thodi karti hu��

Grid View
List View
Reposts
  • tarashaa 3w

    ❤️❤️❤️

    हर फिक्र, गुस्सा , नाराजगी बर्फ सी पिघल जाती है
    जब तेरी मोहब्बत की गर्माहट मेरी रूह तक पहुंच जाती है
    थम सी जाती है सांसे मगर धड़कन काबू पार हो जाती है
    जब तेरी आंखों से झलकती मोहब्बत मेरी आंखों से छलक जाती है

    ©tarashaa

  • tarashaa 3w

    इशारों की जगह लफ्जों से बयान हो
    ऐसी मोहब्बत किस काम की
    और फिक्र भी मेरी बंदिश लगने लगे
    फिर वो मोहब्बत किस नाम की

    ©tarashaa

  • tarashaa 3w

    वक्त बेवक्त भी हमे जिनका खयाल रहता है
    और जिनकी रूकसती में हाल बेहाल रहता है
    उनके लिए मेरा बस एक ही सवाल रहता है
    क्या मेरे बिना उनका भी यही हाल रहता है
    ©tarashaa

  • tarashaa 3w

    उनसे गुफ्तगू की चाह में हम मरे जा रहे थे

    और वो बेशर्मी से मौज में जिंदगी जिए जा रहे थे

    ना कोई होश था उनको ना मेरा खयाल था कोई

    हम ही तन्हा यादों में उनकी आंसू पिए जा रहे थे

    ©tarashaa

  • tarashaa 4w

    पास होते हुए भी उनके अब दूरी सी लगती है
    कभी बोलना तो कभी हंसी भी मजबूरी सी लगती है
    मोहब्बत तो अभी भी वही है उनसे जो पहले हुआ करती थी
    मगर अब वजह बेवजह चुप्पी भी जरूरी सी लगती है

    ©tarashaa

  • tarashaa 8w

    अब ना शिकवा होगी ना कोई शिकायत होगी
    ना झूठे प्यार के मकबरे की कोई जिरायत होगी
    जो था वो था जो है वो ही रहेगा
    अब वही तेरी मुझपे आखिरी इनायत होगी

    ©tarashaa

  • tarashaa 8w

    बिन बोले दिल की बात , वो क्या समझेंगे

    जो आंसू नजरंदाज करदे वो किसी के क्या जज़्बात समझेंगे

    आसान है कहना किसी से की मोहब्बत है उनसे

    खुद दिलो को जलाने वाले जले दिल के हालात क्या समझेंगे

    ©tarashaa

  • tarashaa 11w

    Shout loud

    Benefit of doubt given to a person whom you feel outrages your modesty somehow only encourages that person to move ahead with his evil vicious intent

    Never ever giver this benefit of doubt to anyone whomsoever he is .

    रिश्ते की मर्यादा भंग करने वाला शर्म ना करे तो हम क्यों?

  • tarashaa 11w



    मजहब के नाम पे बकरे की गर्दन बेदर्दी से काट देने पर जानवरो पे क्रूरता नहीं होती

    मजहब के नाम पे सड़को पे ऐसा जलूस निकालने से जिसमे सबके हाथो में औजार एवम हत्यार हो और वो खुद को जख्मी कर रहे हो , इस शक्ति प्रदर्शन से समाज में भय नहीं फैलता

    त्योहार के नाम पे नए साल से पूर्व करोड़ों की संख्या में पेड़ काट देने से पर्यावरण को कोई हानि नहीं होती

    केवल अपने त्योहारों, शादी बिहाओ एवम नव वर्ष पे आतिशबाजी करना पर्यावरण के लिए खराब नही होता

    किसी के लिए हलाल हराम होता है लेकिन झटका पेड़ पे उगता है और किसी के लिए झटका हराम होता है मगर हलाल स्वीकृत होता है

    कुछ के लिए सुअर का मांस हराम माना गया है मगर गाय, बकरा, भैंस और मुर्गा अन्य स्वादिष्ट भोजन और कुछ के लिए गाय पूजनीय है मगर बकरा, भैंस , सुअर और मुर्गा अन्य स्वादिष्ट भोजन

    अपने पूजा स्थल का तोड़ा जाना जुल्म होता है क्रूरता होती है मगर दूसरो के पूजा स्थल तोड़ कर उन्हे कब्जा लेना वो ठीक होता है

    हक के नाम पे राष्ट्रीय राजमार्गो पे कब्जा करना और वहा हत्या एवम बलात्कार जैसे जघन्य अपराध करना अपराध नही होता

    विरोध प्रदर्शन के नाम पे गणतंत्र दिवस पे लाल किले पे तिरंगे का अपमान कर धार्मिक या खालिस्तानी परचम लहराना देशद्रोह नही होता

    किसी एक का सब धर्मों को स्वीकारना जरूरी माना जाता है और एक का सब धर्मों के अस्तित्व को नकारना और झुटलाना उसका अधिकार माना जाता है

  • tarashaa 19w

    मैं बड़ी बेचैनी में थी
    और वो चैन से सो गया
    बहुत प्यार था हमे उनसे
    फिर ना जाने कहा खो गया

    ©tarashaa