Grid View
List View
Reposts
  • tanviraj 8w



    तुम जो पास से गुज़रते लगता सावन सा गुजरा हो,
    दिखा है चाँद ये कैसा, अभी तो रात भी नहीं है।

    करनी तो बहुत सी बातें हैं, पर कोई बात भी नहीं है,
    तुम्हारे पास आ जाए, वैसी हालत भी नहीं है,
    मिलने का मन तो बहुत है,पर कम्बख्त किस्मत ही साथ नहीं है।

    कितनी फ़िक्र होती है मुझे तुम्हारी,
    फिर भी कहते रहते हो समझता मुझे कोई नहीं है।

    लगता है हम तुम्हारी, तुम हमारी जिंदगी से यू खोए,
    मसरूफ से कभी तुम, मशगूल से कभी हम तो नहीं हो गए हैं?
    ©tanviraj

  • tanviraj 11w



    I was sleeping on the grassy ground like a lonely cloud in the shimmering night sky,
    Then suddenly woke up in my dream and saw You right in the twinkling night sky.
    OH GOD! These days there are tensions on the earth and the space,
    All are running today a mad race of so-called rivalry.
    Let's have some peace by turning our sight in the sparkling night sky,
    Calm down have some rest give yourself the bliss of solitude in such an irenic company,
    As one day we will be there among the billions of stars in the scintillating night sky.
    ©tanviraj

  • tanviraj 12w



    काश तुमने दिल से कहा होता,
    काश तुमने दिल से किया होता,
    तो आज तुम्हारे जाने पर,
    थोड़ा ग़म भी हो रहा होता।
    ©tanviraj

  • tanviraj 12w



    Judging people can give rise to vexation or incredulity while understanding them can help in building good bonds
    By judging we split
    By understanding we stay
    ©tanviraj

  • tanviraj 13w



    कितनी अनजान सी थी ये दुनिया,
    कितने अनजान से थे यहाँ के लोग,
    जब जाना तब मालूम हुआ,
    कितने मतलबी थे वो लोग।
    ©tanviraj

  • tanviraj 13w


    What rain symbolizes.....?


    It might add up to the depressed mood
    It might be the sign of crisis or sadness
    It might symbolize someone losing his/her dignity in rain
    It may wash a person clean representing his/her innocence that others are not able to see
    But at last it gives a sense of relief to the mind
    ©tanviraj

  • tanviraj 13w

    I wish i could....

    Comment down below

  • tanviraj 13w



    आजकल तो इतनी याद आती हैं की सुबह पहले होती हैं और नींद बाद में आती है।
    ©tanviraj

  • tanviraj 13w



    अवाम ने जो तुझसे कहा वो सिर्फ मृषा हैं,
    जो तू जान ना सका वही मेरी असली दास्तान है।
    ©tanviraj

  • tanviraj 13w



    Don't fall in love with me as in your love, i will not remain what you loved before:)
    ©tanviraj