tanish_ji

��UP-78 pakke kanpuriya JaiMahakal.HarHar Mahadev. music creator lover��

Grid View
List View
Reposts
  • tanish_ji 2w

    कुछ....

    इल्ज़ाम जो लगा रहे हो कुछ तो सोचा करो....
    बदनामी का दाग सरे आम लगा रहे हो कुछ तो सोचा करो....
    तन्हा तो छोड जाते हो हमे रोता हुआ.. अरे कुछ तो सोचा करो....
    तोड़ने से पहले वादे कुछ तो सोचा करो....
    मुद्दतें गुज़र रहीं है इन्तज़ार मे तेरी.....
    इतना तड़पा रहे हो ऐ ज़ालिम कुछ तो सोचा करो.
    ©tanish_ji

  • tanish_ji 3w

    3-oct-21

    Read More

    Decision made by 1 person in a relationship destroyes other persons lifetime happiness.
    ©tanish_ji

  • tanish_ji 5w

    17-09-21

    Read More

    The pain you gave me in love is sufficient to hate you forever
    The memories you gave me in love are sufficient to hate myself forever

  • tanish_ji 5w

    16-09-21

    Read More

    हर दिन ये जिंदगी मौत की आगोश मे लेजा रही है....
    कुछ नयी पुरानी दास्तान सुना रही है।
    बुरे वक्त मे अपनो की पहचान करा रही है....
    उम्र छोटी है पर तजुर्बे बड़े दिखा रही है।
    ©tanish_ji

  • tanish_ji 6w

    12-09-21

    Read More

    कितने अर्से से तू पैर जमाए खड़ा है.....
    ऐ बुरे वक्त तू मेरे रू-ब-रू ही क्यू अड़ा है.
    चल भी दे कहीं और बसेरा बना....
    आने भी दे एक सवेरा नया...
    इस कदर तनिष को ना तू सता....
    छा रहा है अंधेरा अब घना....
    डर लग रहा है मुझे एक बात का तेरे साथ मे
    जिंदगी की बाग डोर है तेरे हांथ मे.
    तू चुप करा या दे रुला या जिंदगी को सवार दे
    वक्त की ही बात है ये बिगाड़े या निखार दे।
    ©tanish_ji

  • tanish_ji 6w

    11-09-21(12:41AM)

    Read More

    ता-उम्र.....

    जिसने ता- उम्र साथ चलने का वादा किया था
    उससे तो कुछ पल भी साथ ना निभाया गया
    रोता रहा मै टूट कर पाने को उसे
    फिर मेरे आंसुओं को ड्रामा बोल कर भगाया गया
    ©tanish_ji

  • tanish_ji 7w

    2-09-21

    Read More

    Matlabi is duniya m na Jane Kitna thaga hun.
    Dunya k logon se darne sa m laga hu.
    Jo bhi log h yaha wo h bas matlabi.
    Matlab ki yaari....matlab ka hi sath.
    Niklte hi matlab ye krte nhi h baat.
    Bhoolte h aise....guzren h din jaise.
    Ignore krte h baat ko...mazaak samjhen jazbat ko.
    Chal denge chhod kr..bas u hi dil tod kr.
    Chhod denge rota....pehen k jhut ka mukhauta.
    ©tanish_ji

  • tanish_ji 8w

    28-08-21

    Read More

    आ मेरे बैठ रूबरू ....
    करनी है सुकून-ए गुफ़्तगू ....
    चल उड़ चले खुले आसमा मे....
    कोई अपना नहीं है इस जहां मे....
    दर्द मेरे कुछ तू सुने....
    कुछ ग़म तेरे मै बाँट लू....
    दुर जाने की वजह से... क्या हक से तुमको मै डांट लू.
    चल छोड़ सब कुछ जाने दे..
    करना नहीं अब याद कुछ..
    करनी नहीं अब बात कुछ....
    ©tanish_ji

  • tanish_ji 8w

    28-08-21

    Read More

    Waqt tha to beet gya....
    Zamana hota to tabaah kar deta.
    ©tanish_ji

  • tanish_ji 9w

    22-08-21

    Read More

    Aise

    ऐसे किरदार को जी रहा हूँ....
    लगता है जिंदगी ये उधार की जी रहा हूँ....
    हसने की वजह ढूँढ़ता हूँ....
    आँसुओं को छिपाता घूमता हूँ....
    महफ़िलों मे मायूस बैठता हूँ....
    गुमसुम सा सितारों को देखता हूँ....
    मतलबी दुनिया के कारनामों को देखता हूँ...
    छिपने के ठिकानों को ढूँढता हूँ.....
    कोशिश भर मै सबको सह रहा हूँ....
    दरिया बन चुपचाप बह रहा हूँ....
    ऐसे किरदार को जी रहा हूँ....पुराने हिसाब को चुकाते चुकाते....शायद ज़िंदगी उधार की जी रहा हूँ।
    ©tanish_ji