Grid View
List View
  • surajvats 5d

    पुरुष बड़ी सहजता से बना देते है अपनी आँखों पर बाँध और रोक लेते हैं बहते हुए अपने हर दुख को..... ❤❤
    ©surajvats

  • surajvats 2w

    तीर अपने न आजमाए आप,
    .
    मैं किसी और का निशाना हूँ!!
    ©surajvats

  • surajvats 3w

    इज्जत इतनी करता हुँ उसकी ..के देखते ही
    नज़रें झुक जाती हैं ..

    और वो इतनी शैतान कि मौक़ा देखते ही
    होंठ चूम जाती हैं .. ♥️
    ©surajvats

  • surajvats 3w

    बहोत महँगा पड़ता है.. वो रिश्ता,
    .
    जिसमे खुद को सस्ता कर दिया जाए!!
    ©surajvats

  • surajvats 3w

    बस तेरे फ़िदा होने की देर और फ़िर ,
    .
    अपनी बग़ल से खंज़र निकालना है मुझे!!
    ©surajvats

  • surajvats 3w

    जिंदगी का तमाशा बनाने वालों में,

    सबसे बेहतरीन क़िरदार अपनों के होते है!!
    ©surajvats

  • surajvats 6w

    शुक्र है मैसेज का जमाना है,
    .
    .
    वरना तुम तो मेरे भेजे हुए कबूतर भी मार देती...
    ©surajvats

  • surajvats 6w

    हाल देखिए इश्क़ में, उसी की दस्तक पे कह दिया,
    .
    .
    अपनी गली में ढूँढ़िए..घर पर नही हैं हम..!
    ©surajvats

  • surajvats 6w

    "हाथ मिलें और दिल न मिलें,
    .
    .
    ऐसे में नुकसान रहेगा..."
    ©surajvats

  • surajvats 6w

    तू कभी रुस्वा न हो – इसलिए हमने,
    .
    .
    अपनी चाहत पे दायरा रक्खा ,
    ©surajvats