sramverma

sramverma.blogspot.com/

मेरे विशुद्ध भावों की अभिव्यक्ति है मेरी कविताएं; या यूं कहूं की मेरे पुरूषत्व के अंदर कहीं छुपी स्त्री है मेरी कविताएं।

Grid View
List View
Reposts
  • sramverma 11h

    Date 17/1/2022 Time 11:07 PM #SRV #bahana

    मैं जब जब जी भर
    कर लिख लेती हूँ
    मैं तब तब जी भर
    कर रो भी लेती हूँ
    मैं जब जब तुमसे
    किये प्रेम के बारे
    में सोचती हूँ
    मैं तब तब अपने
    पुराने घावों को
    हरा कर लेती हूँ
    अब तुम मेरे पास
    फिर से लौट आने
    का इरादा ना करना
    क्यूंकि अब मैं कुछ
    जिम्मेदारियों को उठाने
    के खातिर सहर को
    जीती हूँ और
    जो शब तेरे नाम किया
    करती थी उसके आते
    ही मर जाती हूँ !
    शब्दांकन © एस आर वर्मा

    Image's taken from Google/Facebook/pinterest credit goes to It's rightful owner

    Read More

    मैं जब जब जी भर
    कर लिख लेती हूँ
    मैं तब तब जी भर
    कर रो भी लेती हूँ
    मैं जब जब तुमसे
    किये प्रेम के बारे
    में सोचती हूँ
    मैं तब तब अपने
    पुराने घावों को
    हरा कर लेती हूँ
    अब तुम मेरे पास
    फिर से लौट आने
    का इरादा ना करना
    क्यूंकि अब मैं कुछ
    जिम्मेदारियों को उठाने
    के खातिर सहर को
    जीती हूँ और
    जो शब तेरे नाम किया
    करती थी उसके आते
    ही मर जाती हूँ !
    ©sramverma

  • sramverma 1d

    Date 16/1/2022 Time 5:47 PM #SRV #bahana

    सुनो
    चले आओ मेरे
    पास तुम और
    मुझे छू कर फिर
    से जिंदा कर दो;
    भर दो मुझमें अपनी
    महकती हुई सांसें
    दहकती हुई आहें
    भर दो मेरे पोरों में
    सुकून और मेरे
    जिस्म की चादर
    में भर दो अपनी
    अनगिनत सिलवटें
    और मुझे फिर जीने
    का कोई एक बहाना
    दे दो !
    शब्दांकन © एस आर वर्मा

    Image's taken from Google/Facebook/pinterest credit goes to It's rightful owner

    Read More

    सुनो
    चले आओ मेरे
    पास तुम और
    मुझे छू कर फिर
    से जिंदा कर दो;
    भर दो मुझमें अपनी
    महकती हुई सांसें
    दहकती हुई आहें
    भर दो मेरे पोरों में
    सुकून और मेरे
    जिस्म की चादर
    में भर दो अपनी
    अनगिनत सिलवटें
    और मुझे फिर जीने
    का कोई एक बहाना
    दे दो !
    ©sramverma

  • sramverma 2d

    Date 15/1/2022 Time 11:13 PM #SRV #wasl

    माना की वस्ल के बाद जुनूँ में कमी आती है ;
    पर ये भी सच है कि अगर प्यार सच्चा हो तो
    आखिरकार जुनूँ-ख़ेज़ी बढ़ ही जाती है !
    शब्दांकन © एस आर वर्मा

    Image's taken from Google/Facebook/pinterest credit goes to It's rightful owner

    Read More

    माना की वस्ल के बाद जुनूँ में कमी आती है ;
    पर ये भी सच है कि अगर प्यार सच्चा हो तो
    आखिरकार जुनूँ-ख़ेज़ी बढ़ ही जाती है !
    ©sramverma

  • sramverma 4d

    Date 13/1/2022 Time 12:08 PM #SRV #garal

    जब जब हम विरह के गरल को पीते है
    तब तब ही हम कई दर्द भरी कविताओं
    छंदों शेर और नज़्मों को जन्म देते है !
    शब्दांकन © एस आर वर्मा

    Image's taken from Google/Facebook/pinterest credit goes to It's rightful owner

    Read More

    जब जब हम विरह के गरल को पीते है
    तब तब ही हम कई दर्द भरी कविताओं
    छंदों शेर और नज़्मों को जन्म देते है !
    ©sramverma

  • sramverma 5d

    Date 12/1/2022 Time 2:18 PM #SRV #khwab

    वो ख़्वाब जो
    मेरी आँखों में
    समाये होते है;
    उनसे तो तुम
    रू-ब-रू हो
    ही लेते हो पर;
    मेरे कई ख्वाब
    जो बिस्तरों की
    सिलवटों में छुपे
    बैठे होते है उन्हें
    तुम क्यों नहीं
    देख पाते हो !
    शब्दांकन © एस आर वर्मा

    Image's taken from Google/Facebook/pinterest credit goes to It's rightful owner

    Read More

    वो ख़्वाब जो
    मेरी आँखों में
    समाये होते है;
    उनसे तो तुम
    रू-ब-रू हो
    ही लेते हो पर;
    मेरे कई ख्वाब
    जो बिस्तरों की
    सिलवटों में छुपे
    बैठे होते है उन्हें
    तुम क्यों नहीं
    देख पाते हो !
    ©sramverma

  • sramverma 1w

    Date 11/1/2022 Time 2:18 PM #SRV #dard

    दुख और दर्द
    किसी से बिछड़ने
    का कम और उन
    रिश्तों के टूटने का
    ज्यादा होता है जो
    बरसों के साथ के
    बाद भी एक पल में
    टूट जाते हैं और फिर
    हम खाली हाथ रह जाते हैं !
    शब्दांकन © एस आर वर्मा

    Image's taken from Google/Facebook/pinterest credit goes to It's rightful owner

    Read More

    दुख और दर्द
    किसी से बिछड़ने
    का कम और उन
    रिश्तों के टूटने का
    ज्यादा होता है जो
    बरसों के साथ के
    बाद भी एक पल में
    टूट जाते हैं और फिर
    हम खाली हाथ रह जाते हैं !
    ©sramverma

  • sramverma 1w

    Date 10/1/2022 Time 11:11 AM #SRV #harf

    क्षितिज पर लिखे
    जो ये हर्फ़ है वो
    सारे के सारे मेरे
    लहू में तर-ब-तर है
    ये हादसा नया नया
    अगर न रुक सके
    तो इस में मिले
    अब क़रार कैसे
    कोई बताये मुझे
    और ये तय करें
    कि वो कौन है जो
    चुकाएगा तमाम
    क़र्ज़ इन दर्दों के !
    शब्दांकन © एस आर वर्मा

    Image's taken from Google/Facebook/pinterest credit goes to It's rightful owner

    Read More

    क्षितिज पर लिखे
    जो ये हर्फ़ है वो
    सारे के सारे मेरे
    लहू में तर-ब-तर है
    ये हादसा नया नया
    अगर न रुक सके
    तो इस में मिले
    अब क़रार कैसे
    कोई बताये मुझे
    और ये तय करें
    कि वो कौन है जो
    चुकाएगा तमाम
    क़र्ज़ इन दर्दों के !
    ©sramverma

  • sramverma 1w

    Date 8/1/2022 Time 1:41 PM #SRV #ruhen

    ख्यालों की जमीं पर
    जाने कितनी रूहें
    भटक रही होंगी
    और तो जिस्म यहां
    पत्थर के हुए पड़े हैं
    पर उन जिस्मों की
    पथराई रूहें जाने
    कहां कहां भटक
    रही होंगी यूँ लगता है
    मानो मेरे पत्थर दिल
    में पिघल रही होंगी
    आँसू हर्फ़ बनकर
    क़तरा क़तरा मेरी
    आँखों से टपक रहे हैं !
    शब्दांकन © एस आर वर्मा

    Image's taken from Google/Facebook/pinterest credit goes to It's rightful owner

    Read More

    ख्यालों की जमीं पर
    जाने कितनी रूहें
    भटक रही होंगी
    और तो जिस्म यहां
    पत्थर के हुए पड़े हैं
    पर उन जिस्मों की
    पथराई रूहें जाने
    कहां कहां भटक
    रही होंगी यूँ लगता है
    मानो मेरे पत्थर दिल
    में पिघल रही होंगी
    आँसू हर्फ़ बनकर
    क़तरा क़तरा मेरी
    आँखों से टपक रहे हैं !
    ©sramverma

  • sramverma 1w

    एक उत्कृष्ट कलमकारा जो हमेशा अपने भावों से मुझे प्रेरित करती है उन्हीं भावों को तव्वजो देते हुए मेरे भाव @jigna_a

    Date 7/1/2022 Time 11:22 PM #SRV #dard

    कोई खूबसूरत चेहरे पर मर मिटते है ,
    कोई उसी चेहरे को देख कर जी उठते है ;
    एक हम है जो चेहरे को देखे बगैर अपनी ;
    ऑंखें उतार कर उस दिल पर रख देते है !

    शब्दांकन © एस आर वर्मा

    Image's taken from Google/Facebook/pinterest credit goes to It's rightful owner

    Read More

    माना कि खूबसूरत चेहरे मरते हैं तुमपे,
    मस'अला यूं है कि हम जी उठते हैं
    ©jigna_a

    कोई खूबसूरत चेहरे पर मर मिटते है ,
    कोई उसी चेहरे को देख कर जी उठते है ;
    एक हम है जो चेहरे को देखे बगैर अपनी ;
    ऑंखें उतार कर उस दिल पर रख देते है !
    ©sramverma

  • sramverma 1w

    Date 6/1/2022 Time 11:39 PM #SRV #dard

    ज़िंदगी !
    सिर्फ़ एक लम्बे
    इंतज़ार का दर्द है
    जो हर एक इश्क़
    करने वाले को ईनाम
    में मिला करता है !
    कविता !
    ख्वाहिशों को लफ़्ज़ों
    मैं गूँथ कर उनकी हत्या
    कर पाने का हौसला है
    जो किसी किसी मोहब्बत
    करने वालों को ही ईनाम
    मिला करता है !

    शब्दांकन © एस आर वर्मा

    Image's taken from Google/Facebook/pinterest credit goes to It's rightful owner

    Read More

    ज़िंदगी !
    सिर्फ़ एक लम्बे
    इंतज़ार का दर्द है
    जो हर एक इश्क़
    करने वाले को ईनाम
    में मिला करता है !
    कविता !
    ख्वाहिशों को लफ़्ज़ों
    मैं गूँथ कर उनकी हत्या
    कर पाने का हौसला है
    जो किसी किसी मोहब्बत
    करने वालों को ही ईनाम
    मिला करता है !
    ©sramverma