Grid View
List View
Reposts
  • somasundara07 7w

    एक रोज़ उनसे मुलाक़ात क्या हुई,
    हमे तो ज़िंदगी अफीमी लगने लगी।



    ©somasundara07

  • somasundara07 9w

    आईने से तो ज़रा फ़िर भी मायूस हो सकता हूं,
    पर तेरी आंखों में मेरा प्रतिबिंब किसी अजूबे से कम नहीं।
    ✍❣
    ©somasundara07

  • somasundara07 12w

    पलकें भारी तो हैं ,
    मगर सपनों से ज्यादा नहीं।
    ©somasundara07

  • somasundara07 15w

    जिंदगी में आगे बढ़ना चाहते हैं,
    मगर फिर तुम दिख जाती हो
    और यकायक ठहराव सा आ जाता है! ✍
    ©somasundara07

  • somasundara07 15w

    सुना है आजकल ज़रा ठीक से सुनने लगे हो तुम,
    मेरी धड़कनें सुनाई देती है क्या?
    ©somasundara07

  • somasundara07 17w

    आज रात उसे याद कर रोने की ज़रूरत नहीं,
    आज रात होने वाली ये बरसात काफ़ी है ⛈
    ©somasundara07

  • somasundara07 25w

    वो मेरा इश्क़ भी तुम सा ही था,
    थोड़ा नादान, थोड़ा मासूम,थोड़ा लापरवाह।
    ©somasundara07

  • somasundara07 26w

    मुझे चेतावनी नहीं दी गई,
    मैं बस समंदर के ज्वार सा बढ़ता चला गया इश्क़ में!!✍
    ©somasundara07

  • somasundara07 28w

    निकल गयी एक और रात,
    वो भी बिन बात!
    ©somasundara07

  • somasundara07 28w

    तुम हमारे कुछ,
    हम तुम्हारे कुछ,
    अब क्या हैं
    बस ये न पूछ!!❣✍

    ©somasundara07