sillypoet

Dil se dil tak ��

Grid View
List View
Reposts
  • sillypoet 28w

    अगर दोनों रूठ गए, तो फिर मनाएंगा कौन
    जो अहम है दोनों के भीतर
    उसे हराएगा कौन..??
    अगर छोटी सी बात को लगा लोगे दिल पे
    तो फिर ऐसे रिश्ता निभाएगा कौन..??
    जब दोनों ही सही है खुद मे
    तो खुद को गलत ठहराएगा कौन..??
    जो जिंदगी साथ बिताने कि बातें की है फिर उनको हकीकत बनाएगा कौन..??
    माना होगीं कमी दोनों मे ही कही
    पर उनको अनदेखा कर अपनाएगा कौन..!!

    ♡साक्षी सिंह♡

  • sillypoet 29w

    तू सब्र रख मलाल उससे भी होगा ,
    उसने खोया क्या है एक दिन एहसास उसे भी होगा।

    __साक्षी सिंह__

  • sillypoet 29w

    देखा है मैने अपनो को
    किसी और का अपना बनते।


    ©sillypoet

  • sillypoet 81w

    सांवला सा हैं रंग उसका,
    जरा नकचढ़ा सा मिजाज हैं...
    सुनो, पसंद हैं मुझे वो जरा पूछो
    उसका क्या ख्याल हैं।

    ~~साक्षी सिंह~~

  • sillypoet 86w



    लिखना चाहा बहुत कुछ, मगर लिख नही पाए
    इश्क़ मे तेरे कुछ ऐसे गिरे
    कभी उठ नही पाए।

    ___साक्षी सिंह

  • sillypoet 88w

    किरदार बदल रहे हैं,
    तुम्हारी कहानी के
    लगता हैं....
    तुमने फिर कहीं नयी जगह दिल लगा लिया हैं।

    __साक्षी सिंह__

  • sillypoet 93w

    मेरी हर कविताओ में
    उसका एहसास झलकता हैं
    मैं कहूँ या ना कहूँ
    मेरे लिखने के हर ढंग मे बस उसके लिए प्यार छलकता हैं।

    __साक्षी सिंह__

  • sillypoet 94w

    मैं कविताओं सा लिखती हूँ
    वो गीत सा मुझको गाता है
    मैं ख्वाब सा उसमें बस्ती हूँ
    वो चेहरे पे मूस्कान सा मेरी हर रोज चमक के
    आता हैं।

    __साक्षी सिंह__

  • sillypoet 94w

    निकले तो मंजिल के सफ़र में
    एक साथ ही थे,
    पर हुनर तो देखो उनकी बेवफाई का
    उन्होने लंबा सफ़र देख मंजिल ही बदल ली।

    __साक्षी सिंह__

  • sillypoet 95w

    ख़बर तो ये भी
    मिली हैं हमें
    की उनके पास हर
    ख़बर रहती हैं हमारी
    अरे,
    जरा उन्हें कोई तो
    समझाओ ये इश्क़
    नही तो क्या हैं।
    __साक्षी सिंह__