shrutiwari299

www.instagram.com/shrutiwari

��Only Happiness ���� use #shrutiwari to tag follow me on Twitter as shrutiwari299

Grid View
List View
Reposts
  • shrutiwari299 25w

    #shrutiwari #worldenvourmentday #hindi @hindinama #pod #worldenvourmentday
    अल्पविराम

    यह वक्त है अल्पविराम का ,
    रुकने का, कुछ सोचने का,
    और फिर आगे बढ़ने का,
    यह वक्त है कुछ पल चुराने का,
    यह वक्त है अल्पविराम का,

    मुड़ के देखने का कि कितने दूर चले आए,
    कितनों को साथ लाए कितनों को वहीं दफना आए,
    यह वक्त है यादें बटोरने का,
    यह वक्त है अल्पविराम का,

    यह देखने का,
    कि हमेशा देने वाला जब लेता है तो हम कितने हिल जाते हैं,
    मुश्किल घड़ी में कितनों के साथ मिल जाते हैं,
    यह वक्त है इस भीड़ में सच्चा साथी खोजने का,
    यह वक्त है अल्पविराम का,

    यह देखने का की जो कमी आई,
    इस दुनिया में वह कौन लाया,
    इतने वृक्षों के बीच जीवन वायु का संघर्ष कैसे करवाया,
    यह वक्त है एक पौधा रोपने का,
    यह वक्त है अल्पविराम का,

    यह प्रकृति जो दे रही,
    इसकी प्रवृत्ति देने की रही,
    हम जो मानव ले रहे क्या सिर्फ लेना ही सीखे हैं,
    यह वक्त है प्रकृति को कुछ देने का,
    यह वक्त है अल्पविराम।
    ©shrutiwari299

    Read More

    अल्पविराम

    ,

    यह प्रकृति जो दे रही,
    इसकी प्रवृत्ति देने की रही,
    हम जो मानव ले रहे क्या सिर्फ लेना ही सीखे हैं,
    यह वक्त है प्रकृति को कुछ देने का,
    यह वक्त है अल्पविराम।

    ©shrutiwari299

  • shrutiwari299 27w

    Abhimanyu

    रक्त रंजित उस भंवर में राज यह है छुपा हुआ,
    वह किसी का है नहीं जो अपनों का नहीं हुआ,
    जो भाई भाई को ना समझे यह रिश्ते लाल रंग के,
    यह दुश्मन या अपना है कोई कैसी यह हम समझते ,
    जो भवर में आके योद्धा का मान युं बढ़ा रहा,
    यह कैसा तेरा मेरा रिश्ता जिस पर यू इतरा रहा,
    हां! उम्र में तेरे पुत्र सा हूं मैं,
    तुम मेरे पूज्य तात से,
    फिर क्यों शास्त्र मैैं उठा रहा?
    यह व्यूह की रचना तूने यूं जो कर ली,
    मैं उसे चीर अब अमर हो चला,
    बस तुझ से विनती है यह इतनी इस जन्म में नहीं सही,
    किसी और युग में जन्म लेंगे तुम और मैं यही कही ,
    तब यह द्वेश की ज्वाला शांत रखना,
    और प्रेम के गीत गाना,
    शांति के उस मार्ग पर खुद भी चलना औरों को भी सिखाना,
    तब तक इस भंवर में फंसे रहना और बाट जोहना काल की,
    जब वृक्ष में जल ना हो पुरा ,
    तब तुझ से निरस फल हि आते हैं,
    तुझे ऐसे ही माफ करता हूं मैं ,
    सब अपने ही जो यहां है खड़े,
    हुए घेर मुझको ऐसे जैसे,
    शेर से गीदड़ लड़े,
    नहीं पता धर्म अधर्म पर यह जरूर में जानता,
    कुंठित मन है सबके,
    जो मुझ बालक पर निर्दई से रहे शास्त्र चला,
    जाते-जाते बस यह कहूंगा गर्व है मुझे अपनी मां,
    पर उस पर भी जिसने जन्म दिया,
    और जिसके लिए न्योछावर मैं अपने प्राण कर रहा।
    ©shrutiwari299

  • shrutiwari299 34w

    ©shrutiwari299

  • shrutiwari299 34w

    ©shrutiwari299

  • shrutiwari299 34w

    Obituary to unhealthy habits

    From the last couple of years unhealthy habits has become my close companion, ya it will be hard to spend rest of my life without you but I will work hard and soon will get over you.
    May all of us who are reading this move on and adopt a healthy life ahead.
    Amen
    ©shrutiwari299

  • shrutiwari299 34w

    Flowers

    We all are like flowers in a flower show ,
    Have different colours,
    Have different qualities,
    Have different fragrances,
    Have different kind of thorns,
    And
    Have different kind of uniqueness,
    So never ever underestimate yourself if dont have once quality because you would definitely have your own identity.

    Always remember
    "Rose can never blossom like jasmine, as it have it's own fragrance."
    ©shrutiwari299

  • shrutiwari299 34w

    Hmm

    I am in search of one who can read between my lines,
    The one who can catch my tears even if I write joy,
    The one who dont promise me about forever but stay with me in my present,
    The one who is not fake but stay with me with his real face,
    I am in search of one who can read between my lines,
    The one whose "hmm" would be enough for me to feel fine.
    ©shrutiwari299

  • shrutiwari299 39w

    Our eyes holds many dreams,
    Don't let every thing washed away by flood of tears.
    ©shrutiwari299

  • shrutiwari299 39w

    .

    .
    Parenting
    A toddler is a reflection of his parents,
    So do whatever you want him to do
    Read books, decrease your screentime,
    Talk to him in your mothertoung, eat healthy cook healthy , help others, speak politely, give time to your family pets and plants, travel and collect information about our culture. Respect and love all.

    ©shrutiwari299

  • shrutiwari299 39w

    .

    .
    Strings
    I know we are no more together,
    But I can feel you when a breeze crosses me,
    My bed still blossoms in your fragrance,
    I can even sense your soft lips,over my skin,
    I can feel your warmth,your touch, your fragrance, your love..
    Yaa we are no more together
    But the strings are still connected.
    ©shrutiwari299