Grid View
List View
Reposts
  • shreya_seth 8w

    सपनों की कहानी इतनी है।
    अपनी ही ज़बानी लिखनी है।।
    कुछ बाते लफ्ज़ों में बिखरी सी।
    कुछ यादें बनके सिमटी है।।
    कुछ तो मुझमें तुमसा है।
    एक अलग किस्म की धुन सा है।।
    मै भी तो तुम में रह जाती हूं।
    बिन कहें कुछ तो कह जाती हूं।।

    ©shreya_seth

  • shreya_seth 12w

    राहे ऐसी जिनकी मंजिल ही नहीं..
    ढूंढो मुझे अब मै रहती हूं वहीं।।
    #hindinama @hindiwriters @hindinama #lost #manjil #desire

    Read More

    .
    .
    खुद को दिखा कर रांहे तू कई...
    खुद ही भटक क्यों जाता है यूहीं....
    ©shreya_seth

  • shreya_seth 12w



    जीवन ने मुस्कुराना सीखा दिया है,
    अब खुश रहना जरूरी तो नहीं....
    ©shreya_seth

  • shreya_seth 15w

    नमस्कार miraqill परिवार ��
    संयम =temperance(नियंत्रण)
    तृष्णा = desire (चाह)
    #love @hindiwriters @hindinama @writersnetwork #तृष्णा #trishna

    Read More

    संयम

    तृष्णा सबकी एक सी
    सब खेल है प्यारे तृष्णा का।
    तुम में तृष्णा तुम जैसी,
    तुम इसे जताया करते हो।
    हम में तृष्णा तुम जैसी,
    हम इसे छिपाया करते है।
    संयम की बात अनोखी है,
    सब के बस की ना होती है।
    जो समझ इसे तुम पाओगे,
    तो समझ मुझे तुम जाओगे।
    ©shreya_seth

  • shreya_seth 15w

    जीवन

    सतरंग से सपने तेरे,
    शतरंज सा जीवन है।
    सच को कदम कदम पर मारे,
    ठगते क्या खूब खिलौना है।।
    रोब जमा लेगा तू कितना,
    कितने दिन चल पाएगा।
    जो इल्ज़ाम सामने आया तो,
    कदम ना पीछे कर पाएगा।।
    इच्छाओं के लदने लादने में।
    तेरी झोली छोटी पड़ गई।
    फिर जीवन ने अंतिम चाल चली।
    सब यही धरी की धरी रह गई।।
    ©shreya_seth

  • shreya_seth 19w

    .

  • shreya_seth 21w

    .

    .

  • shreya_seth 23w

    नमस्कार miraqill परिवार��
    #wod #man #heart
    @hindiwriter @hindinama
    By unknown writer

    Read More

    परिभाषा पुरुष की

  • shreya_seth 24w

    नमस्कार miraqill परिवार��
    #hindiwriter @hindiwriters @writersnetwork @hindinama
    #wod #rainbow #love #relation #tumhiho

    Read More

    तुम ही हो

    हर हसीं की वज़ह तुम बन जाना।
    हर दुख़ मै तुमसे बाट लूंगी।।
    तुम साथ मेरे बस चलते जाना।
    राहों के काटें मै छाट लूंगी।।

    तुम चलो जो संग संग मेरे।
    तो बन जाऊ मै साया तुम्हारा।
    जो धूप कभी सताए तुम्हे।
    तो बन जाऊ मै छाया तुम्हारा।।

    हर सुबह का पहला साथ बनू मै।
    हर शाम की आखिरी बात बनू मै।।
    तुम हर पल के साथी बन जाना।
    जो कभी ना टूटे वो वादा कर जाना।।
    ©shreya_seth

  • shreya_seth 24w

    Myself

    who am i, a sooth or a lie!

    A society's puppet, who lives like a cumpet!
    or a real dreamer, with strategy and target.

    I am in a illusion, where is the conclusion?
    I think it's ok to live with some confusion...
    ©shreya_seth