shivanigandhi

dreamer , Lover, learning to survive.

Grid View
List View
Reposts
  • shivanigandhi 12w

    how far we have arrived
    How far we are going to be
    the road seems uneven
    neither the destination is clear.

    ©shivanigandhi

  • shivanigandhi 12w

    You know it hurts a lot, I have forgotten how it feels to be loved. There was a time when I used to believe in love, but now, after losing you, nothing feels the same, this heart aches for your presence, but couldn't find the way to fill the void you left behind, no doubt the pain is unbearable but still I believe, on a summer day, healing will find a way to me, the pain will be over, no more lonesomeness I will feel. You know seeing people in love, make me think about the old us, but that's fine. We choose the separation and now it's no more the same. A year has been passed and I still regret the decision we made. Loving someone is very easy, but holding on it what's called the real strength.
    ©shivanigandhi

  • shivanigandhi 14w

    दुनियां mail कर रही हैं
    मैं चिट्ठियों का Wait कर रही हूं
    लोग filter चुन रहे हैं
    और मैं Black & White पसंद कर रही हूं

    Voice call के ज़माने मे
    आंखे padhne वाले की तलाश कर रही हूं
    Cafè मशहूर हो गये हैं
    और मैं नुक्कड की Chai पी रही है


    Night outs की Generation मे
    मैं Morning Vibes ढूंढ रहीं हूं
    PUB-G सबके Mobile मे हैं
    और मैं अकेले Luka-Chupi खेल रहीं हूं

    GoogleMaps के ज़माने मे
    मैं Road Not Found का इंतजार कर रही हूं
    लोग Virtual Hugs send कर रहे हैं
    और मैं Typewriter पे इश्क़ लिख रही हूं

    DUBAI trip बहुतों की pending हैं
    मैं Himachal की वादियाँ घूम रही हूं
    Flight की Window Seat हर किसी को चाहिये
    और मैं Bus की Last seat book कर रही हूं

    Raftar k Rap के ज़माने मे
    मैं Gulzar ki Gazal सुन रहीं हूं
    दिमाग 2021 मे चल रहा हैं
    और दिल से मैं 1921 ज़ी रही हूँ
    ©shivanigandhi

  • shivanigandhi 14w

    I still don't know, how to handle myself, just waiting for years to pass, I don't trust anyone anymore. I wish god will forgive me for whatever I did to you.

  • shivanigandhi 15w

    Leaving miraquill because you also deactivated your account. I love you my popo.



    ©shivanigandhi

  • shivanigandhi 15w

    I miss you ! Every single day


    ©shivanigandhi

  • shivanigandhi 23w

    Some fate is written and some we write with our deeds
    ©shivanigandhi

  • shivanigandhi 23w

    You will improve once you believe that you are not enough
    ©shivanigandhi

  • shivanigandhi 23w

    stop searching for better beings in life.
    start finding a better one inside you.

    ©shivanigandhi

  • shivanigandhi 25w

    मुस्कुराता है ये चेहरा
    और जिन्दगी भी दोडती हैं
    पर उस मलाल का शिकार मै अब भी हू
    जो रूह मेरी निचोड़ रहा है ।।
    फक्त अल्फाज़ो का सफर था
    आज शामियाने चुप से हैं
    कहां टीटोलु उन जवाबों को
    जिनके सवाल अंदर दफ्न से हैं ।।
    खामियां थी मेरी या
    खामियाजे ये गलतियो के हैं
    दूर तलक जो सफर था
    आज दरिया किनारे आ पड़े हैं ।।
    मशगूल होगा जमाना जब
    तेरी खिदमत कि गर्दिशो में
    तब भी सुन पाएगा तू
    मेरी खामोश चीखों को
    अपने दिल के आशियाने में ।।
    बेच लेना मेरी सुनवाई तु
    आज तेरे बाज़ार में
    हर रात यहाँ जज़्बातों का जुआ होता हैं

    ©shivanigandhi