Grid View
List View
  • shiva192008 1w

    किसी चीज की आदत रखो नहीं,
    उसे पकड़कर रखो नहीं,
    बदलाव करना जिन्दिगी में,
    वरना कमजोरी बन जाएगी वही।।
    Shiva

  • shiva192008 5w

    Puzzle

    Read More

    Guess what is writing

    607 ã43 )43ť

    Hint: See your keypad
    ©shiva192008

  • shiva192008 5w

    Past was a"Waste paper"....
    Present is a "Newspaper".....
    Future will be "Question paper".......
    NOTE: So read and write carefully Otherwise life Will Tissue paper.....
    ©shiva192008

  • shiva192008 7w

    Happy Teachers Day

    Happy Teachers Day
    A Good teacher not From Book
    He/She From Heart ♥♥♥♥♥♥

    ©shiva192008

  • shiva192008 8w

    Janmastmi special

    जनम लिया है देवी की कोक से,
    बड़े हुए यशोदा के मोस से,
    लीलाए रची है जिन्होने,
    कंस का भी वद किया है उन्होने,
    जनमदिन आज है उनका,
    श्री कृष्ण नाम है जिनका,
    जय श्रीकृष्ण
    ©shiva192008

  • shiva192008 8w

    श्री कृष्ण

    गले में मोती की माला,
    कानो में कुंडल,
    हाथ में कंगन,
    सिर पे मोर मुकुट धारे,
    होटों पे मुरली रखे बाजा रहे,
    हो जाते मग्न सारे के सारे,
    रूप इतना सुंदर,
    मोह लेते सब का मन,
    चुरा चुरा कर माखन खाते,
    गोपियो के आने पर भाग जाते,
    बहुत शैतानिया और गलतियों बचपन मे उन्होने,
    इस दुनिया को बनाया जिन्होने,
    Happy Krishna janmastmi दिल से।।
    Plz like and follow me
    -Shiva

  • shiva192008 10w

    Hlo

    Read More

    Hello
    Good morning
    Good afternoon
    Good evening
    Good night
    ©shiva192008

  • shiva192008 10w

    15 अगस्त

    1600 में आए थे अंग्रेज व्यापार करने, व्यापार करते करते फेलते रहे पैर अपने,
    24 अगस्त 1608 को सूरत से फरमान कारखाने खोलने के लिए,
    धीरे धीरे अपनी कटूनिती से फैलाने लगे अपना राज,
    पाया उन्होन के लोग एक दसरे के खिलाफ और नारज,
    सोचा उन्होन भारत पर करने का राज,
    धीरे धीरे हुए सभी फेसलो में देने लगे दखल,
    फेसलो अपने हिसाब से करते अदल बदल,
    जब तक राजाओ को पता चला की उनके बारे में,
    तब तक उनका राजा चलने लगा था अंगरेजों के इशारे पे,
    बहुत राजाओ ने किया उनका सामना,
    लेकिन ये सिर्फ राह गया उनका सपना,
    फिर उनकी नज़र पड़ी झाँसी पर,
    लेकिन उन को खदेड़ दिया लक्ष्मीबाई ने,
    फिर अंगरेजो और लक्ष्मीबाई के बीच बहुत बड़ा युद्ध हुआ,
    लेकिन लक्ष्मीबाई का एक मंत्री बिक गया,
    परंतु मानी न लक्ष्मी बाई ने हार,
    युद्ध में किया बहुतो का संघार,
    सेना कम होने से अंगरेजों ने घर लिया लक्ष्मीबाई को,
    लेकिन तंबू में जकार आग लगा ली उन्होन अपने बच्चे और अपने आपको,
    कुछ हाथ में आया अंगरेजो को लेकिन गुना गुलाम बना लिया भारत को,
    जुल्म ढा रहे थे लोगो पर,
    काम ने कराते दिन-भर, रुकने न देते एक पल,
    जाने देते घर,
    जब पता चला गांधीजी को,
    तो आ गए विदेश से भारत को अंग्रेजो से आजाद कराने,
    गांधीजी के साथ और मिल गए स्वतंत्रंता सेनानी,
    गए वे जेल भी,
    लेकिन मानी ना हार उन्होने तब भी,
    आजादी के लिए चढे बहुत लोग फासी पे,
    अमर हो गए आखिर में,
    आखिर आ गया वो दिन जिसका था सबको इंतजार,
    14 अगस्त 1947 को हुआ जब आजादी का एलान,
    सब हो गया खुश और मचाने लगे धूम,
    15 अगस्त 1947 को देश हुआ आजाद और तिरंगा फहराया लाल किले पर।।
    Happy 75 INDEPENDENCE DAY TO ALL
    -shiva

    Plz like and follow me

  • shiva192008 11w

    Today I m very happy and u share your feelings in comment box

  • shiva192008 11w

    Good morning to all (stay home stay safe)

    -shiva