Grid View
List View
  • shashipandey 48w

    बि खरना

    पतझड़ में पत्तों को बि खरते देखा
    सावन में बूंदों को बरसते देखा
    आंधियां बदल को के उडी
    पर राह में पड़ा एक वृद्ध वहीं का वहीं रह गया
    उसको देखने वाला कोई नहीं था

  • shashipandey 49w

    Jindgi

    Jindgi jindadili ka naam hai
    Murdadil Kya khaak jiyakarte Hain

  • shashipandey 80w

    समय

    ये समय चक्र है जो अपनी गति से चलता है
    प्रारब्ध में जो लिखा है वही समय दिखाता है
    कर्मों का फल इसमें विशेषता लाता है
    इसके फल स्वरूप दर्द थोड़ा कम हो जाता है ।
    ©shashipandey

  • shashipandey 85w

    रात

    रात घनी अंधियारी कारी
    उसपर तेरा जगमग रूप
    अंधियारा भी चमक उठा है
    जैसे दिन में खिली हो धूप
    ©shashipandey

  • shashipandey 85w

    बंधन

    जो बांधने से बंधे और तोड़ने से टूट जाए
    उसका नाम है बंधन
    जो अपने आप बन जाए और जीवन भर ना टूटे
    उसका नाम है संबंध ।
    ©shashipandey

  • shashipandey 86w

    Relations

    Relations do not need cute voice
    and lovely face. Relations need
    Beautiful heart and unbreakable trust.
    ©shashipandey

  • shashipandey 88w

    कलाई

    अल्लाह रे उस गुल की कलाई की नज़ाकत
    बल खा गई जब बोझ पड़ा रंग ए हिना का
    ©shashipandey

  • shashipandey 90w

    दर्द

    जो दर्द से वाकिफ हैं वो खूब समझते हैं
    राहत में तुझे खोया तक्लीफ में पाया है ।
    ©shashipandey

  • shashipandey 90w

    जुदाई

    जुदाइयों के जख्म दर्द ए जिंदगी ने भर दिए
    तुझे भी नींद आ गई मुझे भी सब्र आ गया ।
    ©shashipandey

  • shashipandey 91w

    मुहब्बत

    मुहब्बत रंग लाती है जब दिल से दिल मिलता है
    मगर मुश्किल तो ये है के दिल बड़ी मुश्किल से मिलता है
    ©shashipandey