shanishukla_

माँ दुनिया है मेरी twitter id @me_sawyam_shani

Grid View
List View
Reposts
  • shanishukla_ 21w

    दरमियां

    लब्जो से जो था परे ,
    खालीपन को जो भरे,
    कुछ तो था तेरे मेरे
    दरमियां ----

    रिश्ते को क्या मोड़ दूँ
    नाता ये अब तोड़ दूँ
    या फिर यूँ ही छोड़ दूँ
    दरमियां....!!

    Shani_shukla

  • shanishukla_ 21w

    शिकायत

    नही रही अब शिकायत
    तेरी नाजरंदजी से ...

    तू बाकियों को खुश रख
    हम तन्हा ही अच्छे है ..!

  • shanishukla_ 21w

    Smlie

    किसी ने कहा इतना खुश क्यूँ है.?

    मैंने भी कह दिया
    मेरे मुस्कुराहट को
    होठो से आँखों तक का रास्ता मिल गया..!!!

  • shanishukla_ 40w

    मिट्टी

    जन्म मिट्टी का , जन्मा मिट्टी में,
    फिर घमंड क्यों इस मिट्टी का,

    आखिर में कहानी भी बन जाओगे
    इसी मिट्टी में ..!!!

    #मणिकर्णिका जहाँ ज़िन्दगी मृत्यु को
    तरसती है ..!!

    @shani_shukla

  • shanishukla_ 42w

    मुंतशिर हम है तो
    रुख सार पे सबनम क्यों है

    आईने टूटते रहते है
    तुम्हे गम क्यों है ..!!

  • shanishukla_ 42w

    साँसे

    मेरे ख्वाबो का शहर है तू
    मैं हर रात तुझे साजता हूँ...

    दिल की हर ख़ुशी थम सी जाती
    जब नींद मेरी खुल जाती है...!!

    @shani_shukla

  • shanishukla_ 46w

    बंधन

    #रिश्तों की डोरी है,
    प्रीत से बांधी है..।

    कोई बेगाना नहीं
    कोई अंजना नहीं..।

    हर कोई अपना है
    सबसे अपनी यारी है..।

    छोटी सी जिंदगी है
    और
    बस यही कहानी है..!!

    @shani_shukla

  • shanishukla_ 47w

    किस्सा

    दर्द हुआ तो...
    दिल का सारा किस्सा लिख डाला,

    खुशी में अपनी
    तेरा हिस्सा लिख डाला,

    माना...
    तू आज दूर हुआ सही मुझसे,

    पर मैंने आज भी...
    इस कोरे को #खत बनाया,

    और इस कागज पर तुझ सँग
    अपनी नजदीकियों का रिस्ता लिख डाला..!!

    @shani_shukla

  • shanishukla_ 49w

    ख्वाब

    .

    जीत है मेरी जिंदगी की या है मेरी #हार वो
    इश्क है मेरा या है कोई अंजाना सा ख्वाब वो..!!

    मेरी रूह तक में भी अब बसने लगा है वो
    जाने कैसे लहू बन रगों में रिसने लगा है वो..!!

    @shani_shukla

  • shanishukla_ 49w

    टूटना

    "लड़कियों का भी दिल टूटता हैं"

    मेरे समंदर से दिल की लहरें शांत हो गयी है
    मेरी उदासियों के बीच मेरी खुशिया खो गयी है
    जब -जब पूछा है किसी ने तेरे साथ बिताए वक़्त के बारे में
    बताते बताते हमेशा मेरी आँख रो गयी है
    कितना ख्याल रखना पड़ता है माँ-बाप की इज्जत का
    मैं चुप चाप सारे गम सह गयी तू हँसता खेलता किसी और
    का हो गया मैं जांना वही रह गई , पर याद रखना तेरे गुनाहों की
    सजा महज माफ़ी नहीं है , मैं तुझे कुछ नहीं कह रही क्या इतना तेरे लिए काफी नहीं है, शायद तेरी कोई बहन नहीं इसलिए लड़की की इज्जत का कोई ख्याल नहीं अपने इतने ज्यादा गलत होने पर भी
    जरा सा तुझे मलाल नहीं , तू हँसता खेलता आबाद रह मैं अब भी
    यही चाहूँगी जांना तू मेरी पसंद था और अपनी पसंद पर उठती नहीं सवाल कभी , वो क्या है न बेवफाई इतनी ज्यादा बढ़ रही है रिश्तों में लोग मोहब्बत को भूलते जा रहे है,विश्वास अब बचा नहीं है इसलिए लोग छोटी-छोटी बातों में कसमे कहा रहे है,पर एक बात बता क्या मुझे बीच राह में छोड़ जाना नाइंसाफी नहीं है, मैं तुझे कुछ नहीं कह रही क्या इतना तेरे लिए काफी नहीं है अक्सर मेरे दोस्त मुझसे जुडी तेरी बातें पूछते है,अब भी मेरा नाम तेरे नाम के साथ जोड़ मेरा माजक उड़ाते है वो जो तूने कहाँ था न तेरा सर नेम मेरे नाम के साथ अच्छा लगता है, हा आज भी मेरे दोस्त उसी नाम से बुलाते है,पर हम इतने साल साथ रहे देखना तुझे तेरी बेटी में मेरी झलक दिखाई देगी वो जब तुझे पुकारे गी देखना तुझे उसकी आवाज में मेरी आवाज सुनाई देगी सुन यार थक गई हूं मैं इस ज़िन्दगी से और अलविदा कह रही हूँ काश तुझे इन गमो की परछाई भी न छू पाए जिन्हें मै सह रही हूँ , पर याद रखना तेरे गुनाहों की सजा महज माफ़ी नहीं है मैं तुझे कुछ नहीं कह रही क्या इतना तेरे लिए काफी नहीं है,

    @shani_shukla