saurabh_yadav

www.instagram.com/saurabh_yadav002

jai Hind ���� Instagram Id-saurabh_yadav002

Grid View
List View
Reposts
  • saurabh_yadav 16h

    कभी सोचता हूँ
    कभी नहीं सोचता हूँ

    इस कभी सोचने और कभी नहीं सोचने
    के बीच में खुद को ढूढ़ता हूँ

    तो कभी ढूँढ़ लेता हूँ
    तो कभी दूर
    कहीं बहुत दूर लगता हूँ
    ©saurabh_yadav

    Read More

    (अनुशीर्षक पढ़े )

    ©saurabh_yadav

  • saurabh_yadav 16h

    I lost all battles of my life
    now I'm waiting of Death
    Come on, darling
    Where are you?
    Death! Death bed!

    ©saurabh_yadav

  • saurabh_yadav 17h

    न तुम आये
    न तुम्हारी यादें आई

    पर दिसंबर आयी
    सर्द रातें आयी

    उन रातों में बेहिसाब
    तुम्हारी यादें आयी
    ©saurabh_yadav

    Read More

    (अनुशीर्षक पढ़े)

    ©saurabh_yadav

  • saurabh_yadav 1w

    जब तक मैं एक कविता सोच रहा होता हूँ
    तब तक दूर कहीं बहुत दूर
    एक दूसरी कविता
    गरम गरम कढ़ाई से छन कर बाहर आती है
    और लाजवाब कर जाती है
    ©saurabh_yadav

    Read More

    (अनुशीर्षक पढ़े)

    ©saurabh_yadav

  • saurabh_yadav 1w

    ऐसा कोई पल नहीं गुजरा
    जब प्रेम मेरे करीब से नहीं गुजरा
    ©saurabh_yadav

  • saurabh_yadav 1w

    दिक्कत ये है कि
    दिक्कत बताई नहीं जा रही है

    और दिक्कत बताई जा रही है
    तो दिक्कत सुनी नहीं जा रही है

    जब दिक्कत सुनी नहीं जा रही है
    तो दिक्कत अपनी जगह पे पड़ी-पड़ी मरी जा रही है
    ©saurabh_yadav

    Read More

    (अनुशीर्षक पढ़े)

    ©saurabh_yadav

  • saurabh_yadav 2w

    "वो मेरी एक अच्छी दोस्त है
    वो मेरी एक अच्छी है

    मैं उसे अपना एक अच्छा हमसफ़र बनाना चाहता हूँ "
    ©saurabh_yadav

    Read More

    (अनुशीर्षक पढ़े )

    ©saurabh_yadav

  • saurabh_yadav 2w

    मेरी कलम से,

    Child Labour is still big problem in our country.And after the pandemic ,Rate of increasement in child labour is increases.

    Read More

    गाँव में इक छोटा सा भवन खड़ा है
    जिसे शायद पाठशाला कहते है
    जहाँ गाँव के बच्चे पढ़ने जाते है

    पर ये दृश्य क्या है
    इस छोटी सी उम्र में बच्चे
    बड़ो सा जिम्मेदारीयों का बोझ ढो रहे है
    यहाँ तो बच्चे काम पर जा रहे है

    और ये मेरे समय की अब तक की
    सबसे खतरनाक प्रक्रिया है
    ©saurabh_yadav

  • saurabh_yadav 2w

    मैं सोचता गया
    और लिखता गया
    अंत में क्या लिखा
    नहीं समझ आया
    फिर मैंने उसे एक नाम देना चाहा
    जिसे इहलोक में लोग कविता बोलते है

    पर मैं इसे कविता नहीं तुम्हारा नाम दिया
    पता है क्यों
    क्योंकि मेरी सबसे सुंदर कविता तुम हो
    ©saurabh_yadav

    Read More

    (अनुशीर्षक पढ़े)

    ©saurabh_yadav

  • saurabh_yadav 2w

    कुछ मेरे हिस्से है
    कुछ तुम्हारे हिस्से है

    सबके हिस्से कुछ ना कुछ जरूर है
    किसी के हिस्से खाली नहीं है
    ©saurabh_yadav

    Read More

    (अनुशीर्षक पढ़े)

    ©saurabh_yadav