s2sumit

youtube.com/channel/UC5vkEM9tGF9ZM6JqsoI7bUg

The crowd may mislead that's why I love to wander in solitude S-2

Grid View
List View
  • s2sumit 14w

    Charaag hoon

    Ujade na ujade, Mai khilta hua wo baag hoon
    K bujhaye na bujhe Mai jalta hua wo charaag hoon
    ©s2sumit

  • s2sumit 15w

    आज रक्षाबंधन है

    निभाना है फर्ज़ तुझे इस प्यार का
    सही अर्थ समझना है आज तुझे इस त्योहार का
    बाँधी है कलाई पर राखी लगाया माथे पर चंदन है
    आज रक्षाबंधन है

    आग्रह है सभी भाइयो से
    किसी बहन की आबरू फिर न लूटे
    दहेज़ प्रताड़ना से अब वो कभी न टूटे
    कर रहा ये लेख़क तेरे चरणों में वंदन है
    आज रक्षाबंधन है

    हवसी दरिंदो का अब न फिर से वार हो
    किसी बहन की इज़्ज़त फिर न तार-तार हो
    तेज़ाब बंदूख चाहे कोई हथियार हो
    बतला दे बहनों की सुरक्षा के खातिर
    तू बनकर खड़ा "विंग कमांडर अभिनन्दन" है
    आज रक्षाबंधन है

    ©s2sumit

  • s2sumit 15w

    I wrote it to motivate a person after listening her traumatic break-up story.
    #hindikavita #poetry #selflove #selfmotivation #miraquill #mirakeehindi

    Read More

    खुद की ज़िन्दगी

    तूझे खो दिया, थोड़ा सा ग़म है
    ख़ुद की होने जा रही हूँ, ये क्या कम है

    पहले जीती थी तेरे लिए,
    तेरे बिना ख़ुद को समझती अधूरी थी
    तेरे बाद बदल लिया ख़ुद को,
    कोई रहा न साथ मेरे, फ़िर भी मैं पूरी थी

    मैं ही जानती हूँ कैसे वो पल मैंने गुज़ारे थे,
    तू नहीं रहता तो वीरान सा लगता,
    तुझसे ही सारे नज़ारे थे

    तेरी दी हुई सारी तक़लीफ़ें मैं मिटा रही हूँ
    लो आज से मैं खुद की ज़िन्दगी जीने जा रही हूँ

    ©s2sumit

  • s2sumit 15w

    मैं निखर रहा था

    हर रोज़ टूट रहा था

    हर रोज़ बिख़र रहा था

    थोड़ा थोड़ा सा ही सही

    पर मैं निखर रहा था
    ©s2sumit

  • s2sumit 16w

    कर्ज़दार है हम सब इसके
    वतन का क़र्ज़ चुकाना है
    भारत को भारत बनाना है

    सत्य अहिंसा और धर्म का
    सही मतलब सबको समझाना है
    भारत को भारत बनाना है

    है ज्वाला सीने में धधक रही
    अन्याय, अधर्म, भेद भाव
    और हिंसा को जलाना है
    भारत को भारत बनाना है

    वेद पुराण उपनिषद् ज्ञान से
    पाखंड इस देश से मिटाना है
    भारत को भारत बनाना है

    टूट गयी है जो अखंडता
    खो गयी है जो संस्कृति
    सबको वापस लाना है
    भारत को भारत बनाना है

    विश्व गुरु था और रहेगा
    फिर से वो ज्ञान का प्रकाश फैलाना है
    भारत को भारत बनाना है

    है सपूत हम भारत माँ के
    मिलके देश बचाना है
    लूट सके न फिर कोई ताक़त
    ऐसा भारत बनाना है
    जय हिन्द
    ©s2sumit

  • s2sumit 16w

    किसी ने पुछा तुम्हारे अल्फ़ाज़ दिल को छू जाता है
    तुम्हारे दिमाग में ये सब कहा से आता है?
    मैंने मुस्कुराया और कहा
    गुज़ारे है हमनें भी न जाने कितने ऐसे पल
    आ ले चलु तुझे भी अपनी दुनिया में,
    अग़र तैयार है तो चल

    कोई कभी किसी के लिए तो, कोई किसी के वजह से रोता है
    डायरी हमारी खुली रहती है, जब सारा जहाँ ये सोता है

    यूँ ही नहीं निकलते अल्फ़ाज़,
    दिलों को हादसो के बिच से गुज़रना होता है
    कई दफ़ा तो हमें जीते जि,
    अपने हीं ख्यालों में मरना होता है
    जब ये सारा जहाँ किसी ख़ुशी या उलझन में
    व्यस्त रहता है
    उस वक़्त ये शायर अपनी कल्पनाओं की दुनिया में
    मस्त रहता है
    ©s2sumit

  • s2sumit 16w

    खुद को माफ़ करना

    ग़लती कर भी तो ऐसा जिसे जब चाहे तु भुला सके
    जिसके याद आने से तेरे आँखों में आंसू न कभी आ सके
    तजुरबा है मेरा कुछ ऐसा
    लब्जों में बयां हो न सके,है वैसा
    इसलिए मेरे दोस्त
    भावनाओं में बहकर तुम ऐसी ग़लती करने से डरना
    क्योकि आसान नहीं होता खुद को माफ़ करना.....
    ©s2sumit

  • s2sumit 17w

    न जाने कितना बदला दौर
    न जाने कितना हुआ इस दिल में शोर

    आख़िरकार थक हार कर जमाने से
    आज दौड़ पड़ा है मुसाफिर

    खुद को समेटने
    खुदी के ओर ।
    ©s2sumit

  • s2sumit 17w

    इस्तेमाल

    इस्तेमाल होइये; निखर जाइयेगा।
    ज्यादा नहीं;बिखर जाइयेगा।
    ©s2sumit

  • s2sumit 18w

    ताउम्र गुज़र जाती है इस ज़माने में
    खुद को खुद का दोस्त बनाने में।
    ©s2sumit