ronika_sharma

Ek chup sau sukh�� Jammu��

Grid View
List View
Reposts
  • ronika_sharma 66w

    हाँ भूल चुकी हूँ तुम्हे ,अब ये सिर्फ दिमाग ही नहीं
    दिल भी है कहता।अब तुम्हे याद कर के आँखो से आँसू नहीं
    आते।तुम्हारे साथ बिताए लम्हे अब मुझे नहीं सताते।
    आखिर कब तक वही खड़ा दिल तुम्हे पुकारता रहता।

    हाँ भूल चुकी हूँ तुम्हे, अब ये सिर्फ दिमाग ही नहीं ,दिल भी है कहता। बातें ही नहीं,तुम्हारी आँखें भी झूठ बोला करती थी,
    और मैं भी न जाने क्यों उसे सच समझ लिया करती थी।

    हाँ भूल चुकी हूँ तुम्हे, अब ये सिर्फ दिमाग ही नहीं ,दिल भी है कहता।खुशी तुम्हारे जाने की अब महसूस की है।
    तूमने की ही ना थी महोब्बत कभी,ये बात भी मैने जान ली है।
    दर्द तुम्हारी बेवफाई का दिल आखिर कब तक सहता।
    हाँ भूल चुकी हूँ तुम्हे ,अब ये सिर्फ दिमाग ही नहीं,
    दिल भी है कहता ।

    Read More

    'हाँ भूल चुकी हूँ तुम्हे'
    ©ronika_sharma

  • ronika_sharma 78w

    Afsoos❤

    अफसोस है मुझे ''इसी" बात का
    कि उसे नहीं है "किसी" बात का ।
    ©ronika_sharma

  • ronika_sharma 89w

    Even the fragrance of a flower doesn't lose it's touch until the flower is gone.....


    ©ronika_sharma

  • ronika_sharma 91w

    आए थे जहाँ अनजान बनकर,
    गए वहाँ से यादें लेकर,
    जब देखा अब पने पलटकर,
    मजेदार था यार ,वो काॅलेज का सफर !!
    # hostel life...many new friends hostel full of life...
    Late night talks ...
    Homemade food sharing but maggie in spare...
    Clothes and books on bed...
    The strict and concerning words of warden...
    Those sympathy of mess workers....
    Late night birthday celebrations
    Late night movies...
    All in one room shared, with friends as a family...
    Unforgettable nd amazing full of joy and life...
    This is the hostel life ... I lived!!❤❤

    #last_day_of_the_college

    Read More

    ©ronika_sharma ❤

  • ronika_sharma 91w

    ..

  • ronika_sharma 93w

    कभी मेरी खामोशी को सुनो तो सही,
    चुप रहकर मुझसे ज्यादा शायद कोई बोलता ही नहीं ।
    ©ronika_sharma

  • ronika_sharma 95w

    इश्क ने हर दर्द सहना सिखा दिया
    मुस्कुराती आँखो को बहना सिखा दिया...

    महफिलों में अक्सर गूँजती थी आवाज़ हमारी
    ये इश्क ही है जिसने हमे खामोश रहना सिखा दिया ।

    ©ronika_sharma

  • ronika_sharma 96w

    कभी ग़म तो कभी तन्हाई मार गयी,
    कभी याद आकर उनकी जुदाई मार गयी,
    बहुत टूट कर चाहा जिसको हमने,
    आखिर में उनकी ही बेवफाई मार गयी ।

    ©ronika_sharma

  • ronika_sharma 99w

    मिलने को तो दुनिया मे
    कई चेहरे मिले

    पर तुम सी मोहब्बत हम खुद
    से भी न कर पाये ।
    ©ronika_sharma

  • ronika_sharma 100w



    She wished for light but it was
    darkness that hugged her back....
    ©ronika_sharma