rohitsrivastva

Itni sakti hme dena data

Grid View
List View
Reposts
  • rohitsrivastva 21h

    Love this song

    कागा रे कागा रे मोरी इतनी अरज तोसे चुन चुन कहियो मांस कागा रे कागा रे मोरी इतनी अरज तोसे चुन चुन कहियो मांस रे जिया रे खइयो ना तू नैना मोरे खइयो ना दो नैना मोरे खइयो ना तू नैना मोरे पिया के मिलन की आस खइयो ना दो नैना मोरे खइयो ना तू नैना मोरे पिया के मिलन की आस

  • rohitsrivastva 21h

    Love this song

    महफ़िल में तेरी हम ना रहे जो ग़म तो नहीं है ग़म तो नहीं है किस्से हमारी नजदीकियों के कम तो नहीं है कम तो नहीं है कितनी दफा सुबह को मेरी तेरे आँगन में बैठे मैंने शाम किया चन्ना मेरेया मेरेया

  • rohitsrivastva 22h



    तमाम उम्र मुहब्बत मे हम सबूत जुटाते रहे वो मांगता रहा और हम दीखते रहे
    कभी मासूका ना बनने दिया उसने हम जब भी पास आये वो गलतियां गिनाते रहे
    कभी उसे कुछ अच्छा ना दिखा हम्मे हा हम्मे जो गलत ना था वो भी हमें दीखते रहे
    मुहब्बत ना हुआ मुकदमा हो गया वो खुद जज था और हम मुजरिम वो दफाये बेहिसाब हमपे लगाते रहे

    हवस को नाम दे रखा था उसने मुहब्बत का साहब बिस्तर पे हम कई बार रोये और वो मुस्कुराते रहे
    जिन्दा लास बना दिया है मुहब्बत ने हमें के वो नोचता रहा हमें और हम चिलाते रहे
    किसी ने कहा था मुहब्बत रूह से होती है खुदा कर नूर है इसमें वो रोज हमें अपने ही नजरों मे गिराते रहे
    इस कदर तोरा है मुहब्बत ने हमें के अब डर जाते है नाम से आँखे खुद बंद हो जाती है हाथ कपकपाते रहे

    मेरी कलम
    ©rohitsrivastva

  • rohitsrivastva 22h



    माननी हर बात लोगो की परे जरुरी है क्या
    सही को गलत गलत को सही कहने की कोई मज़बूरी है क्या
    हा माना आज दुनिया कर रंग बदला है तरिके बदल गये है
    मगर मिलावट मुहब्बत मे भी हो बतावो ये जरूरी है क्या
    के गलतियां तुम बेसुमार करो और माफ़ी मग लो हमसे हम हमेशा माफ कर दे ये जरूरी है क्या
    मुहब्बत ना संभाल पावो तो रेहने दो साहब कोई और कर रहा था ये देख के करना जरूरी है क्या

    मेरी कलम
    ©rohitsrivastva

  • rohitsrivastva 1d



    तेरे हर सावल कर जबाब लिखा है
    पहली बार मैंने कोरे पन्नों पे मुहब्बत बेसुमार लिखा है
    मुझे पाता है तू गलत नही है किसी भी ख्याल से
    गलतियां मैं ही करता हु इसलिये चीठी मे मैंने खुद को खराब लिखा है

    मेरी कलम
    ©rohitsrivastva

  • rohitsrivastva 3d



    मुहब्बत है ये कारोबार नहीं जो हिसाब किताब लगाया जाये
    कितना नुकसान हुआ किया मुनाफा ये बताया जाये
    कौन सोचता है मुहब्बत करने से पहले क्या हिस्से मे आयेगा
    कौन साथ देगा कौन छोड़ के जायेगा ये मुहब्बत से पहले कैसे पता लगाया जाये

    मेरी कलम
    ©rohitsrivastva

  • rohitsrivastva 3d



    कलम कभी छोर के नही जाति
    दर्द कागज पे निखार के नहीं आती
    लोग पुछते है हमसे कोई पुराना तालुक दर्द से आपका
    पता है साच बोल रा है वो बस ओठो से हमरे मुस्कुराहट नही जति

    मेरी कलम
    ©rohitsrivastva

  • rohitsrivastva 3d



    जहेन पे याद देने से भी याद आता नहीं के क्या देखते थे
    हम घंटो बैठ के तेरी आँखो मे क्या देखते थे
    हमारी आँखो का रंग लाल देख के तू जब भी पूछता था क्या हुआ
    कैसे बताये कितना रोते थे जब तुझे किसी की बाहो मे बेवजा देखते थे
    तेरी मुहब्बत ने मुकमल बनाया हमें तू हमें चूमता था तो हम घर जाके देर तक आईना देखते थे

    मेरी कलम
    ©rohitsrivastva

  • rohitsrivastva 3d



    कुछ पुराना याद आता है
    वो गुजरा जवाना याद है
    हमने जब भी उठायी कलम अपनी खुशिया बया करने को
    वो हमारा बिता जवाना याद आता है

    मेरी कलम
    ©rohitsrivastva

  • rohitsrivastva 1w



    मेरी मुहब्बत ने भी क्या कमाल दिखया है
    मेरी मुहब्बत मेरी मयीयत मे मेरा दुपटा ओढ़ के आया है
    देखो पूछता है वो सारेयाम मेरे मारने की वजेह सब से
    कम्बख्त वो बेकसूर बन रहा है जिसने हमें यहाँ तक कर राश्ता दिखया है

    मेरी कलम
    ©rohitsrivastva