risingwriter

labjo se ho bya dil ki bate

Grid View
List View
  • risingwriter 15w

    तू रहने दे अपने एहसासो को
    हम तो तुझे कब का भूला चुके है
    बस अपनी एहसासो को सजोना है
    खुद से किया ये वादा है
    ©risingwriter

  • risingwriter 17w

    चल दिए सफर पे
    पर रास्ते भटक रहे है
    मंजिल है पता
    पर हम हि नहीं सम्भल रहे है
    ©risingwriter

  • risingwriter 18w

    कुछ और भी लिखने है आपने हक मे
    ए वक्त ज़रा सा तो थम जा

    बीते वक्त मे कर लिए खुद को बर्बाद
    अब तो वक्त रहते संभल जा
    ©risingwriter

  • risingwriter 19w

    हम भी इंसान हि है जनाब
    हमारा भी दिल टुटा है
    बस रहम उस खुदा कि
    जो खुद से अभि रुठने ना दिया है
    ©risingwriter

  • risingwriter 19w

    रुसवाई नहीं, कोई सताये नहीं
    ए मेरे रब कुछ ऐसा कर
    कोई आए तो आए
    पर दिल दुखाये ना कोई
    ©risingwriter

  • risingwriter 19w

    रुक जाते है दो कदम चलते हि
    मंजिल भी दूर निकल जाती है
    रस्ते तो है दिखते
    बस हम थक जाते है
    ©risingwriter

  • risingwriter 19w

    यादो कि पहेली मे ना जाना
    ये उलझाती बहुत है
    कर अनजान आपने मंजिल से
    बस राहे भटकाती है
    ©risingwriter

  • risingwriter 20w

    माना है मेरी गलती जो तुझे पूरी दुनिया बनाये थे
    भूल गए थे आपने सपनो को
    तुझे हि मंजिल बनाये थे
    अब परवाह नहीं तेरी और तेरे यादो कि
    आगे का सफर मेरे सपनो कि मंजिल है
    तुझे भूल गए हम अब
    बस लब्जो मे हि तेरी जीकर है
    ©risingwriter

  • risingwriter 20w

    अब वक्त नहीं कि तेरे यादो मे खोए रहे
    आपने सुकून को मिटा तेरे गम मे खुद को भुलाये
    ©risingwriter

  • risingwriter 20w

    Ruthe kismat pe ham nhi rote
    Tu gya chhor ke aaye jane vale
    Sun ham piche murkar dekha nhi karte
    ©risingwriter