Grid View
List View
  • revaanthz 11w



    सुकून में इसलिए भी हूँ क्यूंकि सिर्फ धोका खाया है,
    किसी को दिया नहीं...

  • revaanthz 11w



    पसंद नापसंद का मुद्दा ही नहीं,
    अब मसला मन का है और मन ही नहीं है...

  • revaanthz 11w



    आशिकी में अगर वफ़ा की शर्त ना हो तो मुझसे अच्छा आशिक कोई नहीं है...

  • revaanthz 11w



    मोहब्बत उन दिनों की बात है मुर्शिद

    जब लोग सच्चे और मकान कच्चे थे...

  • revaanthz 13w



    उनसे मोहब्बत कमाल की होती है,
    जिनका मिलना मुक़द्दर में नहीं होता...

  • revaanthz 14w



    हसरतें आज भी ख़त लिखती हैं मुझे,
    पर मैं अब पुराने पते पर नहीं रहता ....

  • revaanthz 14w



    मेरे ना हो सके तो कुछ ऐसा कर दो,

    मैं जैसा था फिर मुझे वैसा कर दो...

  • revaanthz 16w



    I killed the part of me that needs you,

    in order to save the rest of myself...

  • revaanthz 19w

    ❤️DLF❤️

    तेरा बहुत इंतज़ार किया,
    कई महीने,
    कई साल,
    पर अब नहीं!!
    अगर आना ही होता तो
    हज़ार रास्ते बनाते, हज़ार बहाने नहीं,
    ऐसा नहीं है मुझे रिश्ते तोड़ना पसंद है,
    मगर जहां कदर ही ना हो, वहाँ निभाना भी गवारा नहीं...

  • revaanthz 19w



    अब मत मिलना तुम दुबारा मुझसे,
    बहुत वक्त लगा है खुद को संभालने में...