radhawrites

lafzon _ke _humsafar

Grid View
List View
Reposts
  • radhawrites 18h

    ढूँढ लेना कभी खुद को
    मेरे अल्फाज़ो में
    अगर मैं नाम लिख दूँ
    सरेआम बदनाम
    हो जाओगे
    ©radhawrites

  • radhawrites 1d

    तुमको भूला रही थी कि तुम याद आये
    रातरानी खुशबू महका रही थी कि तुम याद आये
    चाँद निकल रहा था
    छत पर प्यारी सी गज़ल सुन रहे थे कि तुम याद आये
    ज़हर पी रहे थे ......
    कि तुम याद आये .......
    ©radhawrites

  • radhawrites 5d

    मेरे लिए तुम एक एहसास
    वो अनकही बात
    जिसे मैं भूल न पाँऊ
    हर क्षण
    हर दिन और हर रात
    एक एहसास
    अनकही बात
    ©radhawrites

  • radhawrites 1w

    जितना तुम्हे भूलने की
    कोशिश करते हैं
    उतने ही तुम
    बहुत याद आते हो
    याद आते ही रहते हो
    ©radhawrites

  • radhawrites 1w

    कुछ मन की बातें
    मन से सुन लिया करो
    लफ्जों से हर बात
    समझायी नहीं जाती
    ©radhawrites

  • radhawrites 1w

    हर एक बात को नहीं होती
    ज़रूरत लफ्जों की
    खिड़की पर बिखरी हुई चांदनी
    तेरे एहसास की कुछ यादें
    समेटते हम
    हर बात को नहीं होती ........
    .........ज़रूरत लफ्जों की ........
    ©radhawrites

  • radhawrites 2w

    बहुत दिनों से कुछ लिखा नहीं
    ऐसा नहीं कि तुम्हें सोचा नहीं
    तुम्हें लगा कि भूल रही हूँ तुम्हें
    तुम तो मेरे हर लफ्ज़ में समाए हो
    मेरा हर लफ्ज़ तुम्हारे लिए हैं
    अब
    लफ्ज़ मौन हो गए
    कहो कैसे भूल सकती हूँ तुम्हें
    ऐसा नहीं कि तुम्हें सोचा नहीं
    बहुत दिनों से कुछ लिखा नहीं
    ©radhawrites

  • radhawrites 3w

    जिंदगी युंही गुजर रहीं हैं
    काफ़िला साथ हैं
    मगर
    सफ़र तन्हा
    ©radhawrites

  • radhawrites 3w

    जिंदगी हैं वह पल
    जिसमें तुम शामिल हो
    जिएंगे हम अब
    उन पलों के लिए
    पल पल
    ©radhawrites

  • radhawrites 4w

    क्यों बिछडते हो हमसे
    बार बार
    और क्यों छोड़ जाते हो
    खुद को
    हमारे साथ हमेशा
    ©radhawrites