raaj_kalam_ka

tagg #osr/photography/music forms invented #sbd_khel ��

Grid View
List View
Reposts
  • raaj_kalam_ka 18w

    #osr����
    प्यार हुआ चुपके से ����
    आपको यह गीत याद है ना����

    Read More

    ☺️

    मैं वही ,दर्पण वही
    फिर क्यों लागे रूप नया नया ?
    दिल वही ,धड़कन वहीं
    फिर क्यों लागे जग नया नया ?
    तन वही ,मन वही
    फिर क्यों लागे‌ बदन नया नया ?
    फूल वही ,खुशबू वही
    फिर क्यों लागे चमन नया नया ?

    शायद ...वही हुआ
    जो होना न था !
    यह दिल चोरी हुआ
    जो होना न था !
    मन बेचैन हुआ
    जो होना न था !
    हाँ... मुझे इश्क़ हुआ
    जो होना न था !
    ©raaj_kalam_ka

  • raaj_kalam_ka 18w

    आदरणीय कलमकारों को प्रेम पूर्वक सादर नमन����

    अरसा हुआ कलम की धार नापे
    सोचा इससे पहले कलम मुझे भूल जाए
    एक प्रयास ☺️( दिनांक २२/८)

    Read More

    आशिक़ी

    हो गई आशिक़ी ग़मों से
    खुशियांँ क्या थी, जाने अरसा हुआ !!

    पता न था, दूरियाँ बढ़ेगी इस कदर
    के तेरे नाम की महक, बेगानी-सी लगेगी !!

    ©raaj_kalam_ka

  • raaj_kalam_ka 116w

    #osr���� fir se likhne ki koshish... kripya saath dijiyega... @succhiii @vanyaa

    Read More

    ख़ामोशी

    कुछ दिन सीखा गया , कुछ रात चुप कर गई !
    दिल में उठे जब कई सवाल
    ज़वाब....ख़ामोशी दे गई !
    ©raaj_kalam_ka

  • raaj_kalam_ka 130w

    tagg#osr means
    Om Sai Ram���������� 3.8.19

    @piaa_choudhary Pari I'm nothing without you �� u r my true friend soul Siso #succhiii
    @sanjeevshukla_ Sir @yenksingh Sir @odysseus Sir mera Parichay ����
    @riyabansal @meenuagg @loveneetm #4_ank #ayush_tanharaahi #100urav_indori @rashi100108 @disha_choudhary and all sweeeeeet bro and sis������������������ जन्मदिन को विशेष बनाने के लिए आप सभी का आभार ����

    ������������������������������������
    आज न जाने क्यों आपसे एक बात सांझा करने का मन कर आया कि आप में से बहुत लोगों को मेरा नाम शायद नहीं पता आज मैं अपना नाम परिचय आप से करवाना चाहती हूंँ।
    आपको यह लघु कथा कुछ दकियानूसी ख्यालों को उजागर करते हुए मेरा परिचय दे पाएगी। क्या समाज में बेटी का कोई महत्व नहीं ?लड़कों में ऐसा क्या जो लड़कियों में नहीं ?माफी चाहूंँगी मेरे जन्म की ही सच्चाई है। वैसे मैं अब अपने परिवार की लाडली बेटी हूंँ।

    आप सभी का स्नेह मेरे लिए सबसे कीमती तोहफा है।जाने अनजाने की गई त्रुटियों के लिए क्षमा चाहते हैं। हृदय तल से आप सभी को आभार।��������

    Read More

    Muskaan

    माँ !!भाभीं को दर्द होने लगा। अस्पताल जाना पड़ेगा।

    अरे !!इसे भी आज ही दर्द होना था ।एक दिन और रुक जाती दोपहर के 1:00 बजे हैं।आज रक्षाबंधन का त्यौहार और राखी बांधनी थी। त्योहार खराब कर दिया।

    छोटी बुआ बोली....माँं सही कहा।तभी बड़ी बुआ बोली भतीजा होना चाहिए।भाभी से अंगुठी लूंँगी छोटी भी बोली हांँ मैं पायल लूंँगी। दोनों खुशी में चहकने लगी।

    तभी बाबाजी आ गए ।सभी को ज़ोर से डांँटा... तुम यहांँ बातें बना रही हो और बहू की हालत बिगड़ रही है? सामान इकट्ठा कर ,अस्पताल चलो।

    अस्पताल पहुंँचते ही भाभी को डॉक्टर ले गए और हम बेटे की किलकारी का इंतजार कर रहे। दोनों चाचा ख़ुशी से उछल रहा थे कि मैं चाचा बनूँगा। भैया से सूट लेंगे।छोटी बुआ बोली...दीदी मैं राखी ले आई हूंँ ।भतीजे को हम राखी बाँंधेंगे ।मुस्कुराते हुए बड़ी बुआ बोली ..बहुत अच्छा किया भैया से खूब नेग लेंगे।

    डॉक्टर आई और बोली...मुबारक हो बेटी हुई है ।सभी के मुँह उतर गए मानो उनका सब कुछ छिन गया। थोड़ी देर बाद नर्स मुझे पिताजी की गोद में दे गई। प्यार भरी निगाह से मुझे देख बोले ..आज रक्षाबंधन और पूर्णिमा भी। घर में चांँद आया है,लक्ष्मी आई है।मेरा माथा चूम लिया।उनका यह प्यार देखा सबकी आंँखों में आँंसू आ गए। दोनों बुआ और चाचा मुझे उनसे छीनने लगे। दादी ने नज़र उतारी कहा बिल्कुल चांँद है।

    छठी के दिन पंडित जी ने नामकरण संस्कार में "ख"अक्षर निकाला। कोई ख़ुशबू कोई कहता ख़ुशी परँंतु पंडित जी ने एक अजब सा नाम बताया।शायद आपको भी सुन हंँसी आए " खिलेंद्री "।

    जब उसका अर्थ पूछा ,तब उन्होंने बताया कि जो सब के चेहरे पर मुस्कान लाये। यह सुन सबके चेहरे पर मुस्कान आ गई। ननिहाल के तोहफे खुलने लगे जिन पर लिखा था "राखी" के दादा-दादी ,"राखी" के बुआ-चाचा, "राखी" के पापा-मम्मी । फिर सभी ने "राखी " नाम रख दिया।

    तभी से साल में दो बार अपना जन्मदिन मनाती।दो बार तोहफ़े लेती हूँ और पूरी कोशिश रहती है कि अपने नाम को सार्थक कर सकूंँ सभी की मुस्कान बन सकूंँ।©raaj_kalam_ka

  • raaj_kalam_ka 130w

    #osr ����������
    barso pahle Milae thae hum
    Aaj fir kuch yaad aaya..
    kaise main tujhse ladti jhagadti thi
    aaj fir purana pyar yaad aaya...����������

    Read More

    अधुरी कहानी

    है अभी तलक कहानी अधूरी ,आके इसे पुरा कर दो
    दी तुम्हें कलम साँसों की ,इस पे नाम अपना लिख दो
    ना कोई कर सके हमें तुमसे जुदा
    ग़र हो सके, कुछ ऐसी कहानी लिख दो..!
    ©raaj_kalam_ka

  • raaj_kalam_ka 130w

    #osr ���� चित्र को खींचते समय ज़हन में कुछ ख्याल आए थे पिछली रचना का जवाब
    ��ONE CAR is REAL �� ONE CAR is LIE ��

    कृपया बातों को अन्यथा ना लीजिएगा खयालों में अंतर हो सकता है
    मित्रों कार की पेटी बांँधो बैठो और झेलो����������

    ����Life IS TOO SHORT....TO REALISE WHAT IS REAL AND LIE...����

    Read More

    .

  • raaj_kalam_ka 130w

    #life #11wordstory #writersnetwork @writersnetwork #mirakee @mirakee
    (�� #rclk my click ��✨��)

    Observe the pic carefully...u will see something in the sky... batana jarur ����������

    ✨✨✨✨✨✨✨✨✨✨✨✨✨✨✨✨✨✨

    जिंदगी पल दो पल की कहानी
    पानी का एक बुलबुला
    जी लो जिंदगी के हर रंग को
    बस जान लेना.... क्या है सच्चा क्या है झूठा #osr ����

    Read More

    Life is too short....
    to REALISE
    what is REAL and LIE.

    ©raaj_kalam_ka

  • raaj_kalam_ka 130w

    #writerstolli #panchdoot @writerstolli @panchdoot #coffin_wt
    ❣❣❣❣❣❣❣❣❣❣❣❣❣❣❣❣❣❣❣❣❣❣❣❣❣❣❣❣❣❣❣❣❣❣❣❣❣❣
    #osr ����मनुष्य पूरी ज़िंदगी सभी को खुश करने में लगा रहता है। धन दौलत शोहरत ज़मीन जायदाद के पीछे भागता रहता ।परंतु अंत समय में दो गज जमीन से ज्यादा उसे कुछ ना मिलता ।

    Read More

    तलाश सुकूं की

    किस ग़ुमान में जी रहा था अभी तलक
    कभी ना देखा मुफलिसों की तरफ़
    सँंभल जाओ तुम ज़रा, खुदा का खौफ खाओ
    इन्सानियत का जज्बा यूं ना ख़ाक में मिलाओ
    एक दिन तुम्हें भी इस ज़मीं में मिल जाना
    फिर काहे की यह शोहरत, काहे का ज़माना
    अपनों के ख़्वाबों-खातिर रूह को क्यों सताना
    .......अब
    स़ुकूं-ए-ज़िंदगी तलाश ली मैंने ,चैन से सो जाने दो यारों
    खुश हूँ मुझे खुश रहने दो, यहांँ भी आके ना सताना यारों।
    ©raaj_kalam_ka

  • raaj_kalam_ka 130w

    #osr,���� सावन सोमवार शिवरात्रि की आप सभी को शुभकामनाएं। इस रचना के माध्यम से शिव शक्ति के मिलन को प्रकृति के साथ दर्शाने का प्रयास किया। क्योंकि जैसा कि हमें पता है पार्वती माता ही शक्ति और प्रकृति का रूप है।
    @ayush_tanharaahi bhaii,�� उम्मीद है यह रचना आप की कसौटी पर खरी उतरे।कोई त्रुटि हो तो जरूर बताइएगा। मेरे लिए मुश्किल था जो मन में आया लिख दिया ������
    @anita_sudhir diduu आपके बिना मेरी कलम अधूरी है����
    शुरुआत मशहूर गीत की पंक्तियों से ��

    ������������������������������������

    ��शिवा-शक्ति ��
    सावन का महीना पवन करे सोर, देखूँं जब भी इनको
    जियरा ऐसे झूमेे जैसे बन मा नाचे मोर
    पार्वती संग मेरे भोला बिराजे
    सृष्टि मिलन देख खुशी से नाचे��

    जित देखो उत सुंदर पुष्प साजे
    खग विहग की ध्वनि मोहक बाजे
    दोनन को रूप अति मनोहारी
    देवगण असुर पिशाच निहारे��

    ब्रह्मा विष्णु संग उनकी प्यारी
    शुभ मंगल गीत गावे सारे
    देख गौरा को मनमोहक रूप
    शिवा मेरा मंद मंद मुस्कावे ��

    डमरु बजा नृत्य दिखावे
    शक्ति शिवा पे रीझ रीझ आवे
    बगियन में मयूर पंँख फैलावे
    बरखा बरस आलिंगन जतावे ��

    प्रकृति शिव लीला के रंग में रंग जावे
    रंग रूप इनका बदल जावे
    मदमस्त चाल चल केहुआ गीत गावे
    किसी के सिर उगे कलंगी किसी के पंँख सुनहरे हो जावे ��

    सृष्टि रक्षा हेतु मेरे भोले ने विष-पान किया
    बिगड़ी हालत देख गौरा ने भाँग से ताप शाँत किया
    विष ताप हो खत्म गंगा को सिर मुकुट लिया ��

    सर्प-हार कंठन साजे ,शीतल चांँद सीस सुहावे
    भोले का अनुपम रूप देख मन अति हर्षावे,
    सारी सृष्टि मेरे भोले तुझमें समाई
    तू है सबका पालनहार मैं तेरी भक्तन कहलाई।��
    ©raaj_kalam_ka

    ������������������������������������

    Read More

    शिवा-शक्ति

    सृष्टि रक्षा हेतु मेरे भोले ने विष पान किया
    बिगड़ी हालत देख गौरा ने भाँग से ताप शाँत किया
    विष ताप हो खत्म गंँगा का सिर मुकुट लिया
    सर्प-हार कंठन साजे,शीतल चांँद सीस सुहावे
    भोले का अनुपम रूप देख मन अति हर्षावे
    सारी सृष्टि मेरे भोले तुझमें समाई
    तू है सबका पालनहार मैं तेरी भक्तन कहलाई।
    ©raaj_kalam_ka

  • raaj_kalam_ka 130w

    #osr ���� आप सभी के प्रोत्साहन और प्यार का दिल से शुक्रिया मेरी रचनाओं को अपने स्नेह की वर्षा कर अपना आशीर्वाद देते हैं।
    मेरा मानना है कि हम‌ सभी यहांँ likes या following के लिए नहीं लिखते।वरन् अपने ख्यालात सांझा करना बहुत अच्छा लगता है । इससे बहुत कुछ सीखने भी मिलता है। कृपया बातों को अन्यथा ना लें। God bless you all ��������

    आज तुमसे कुछ नहीं कहेंगे
    महसूस हुआ ग़र तो कर लेना
    अपनी चुप्पी से कुछ बात कहेंगे

    Read More

    वे कहते है कि....
    आज हमारी आंँखों में शरारत ,लबों पे अज़ब सी कशिश है
    उन्हें कैसे बताएं हम...
    रात भर रोई हैं आँखें, छुपा ली खोखली हंँसी के नक़ाब से
    ©raaj_kalam_ka