Grid View
List View
  • pratiksha31 41w

    चाय

    ©pratiksha31
    एक चाय की खुशबु,
    और दूजी तेरी यादें,

    इन दोनो के नशे में,
    बीत रही है मेरी रातें!!

  • pratiksha31 41w

    Waqt

    ©pratiksha31

    वक्त सा था वो,
    ना कभी मिला,
    ना कभी रुका!!

  • pratiksha31 42w

    मेरी जान हो!!

    ©pratiksha31
    भला मैं तुमसे हर चिज़ का गिला कैसे करूं?
    तुम सफर हो मेरा अनोखासा,
    जिसकी यादें खामोशी से मैं दिल में भरू,

    तुम ख्वाब हो,
    एहसास हो,
    मेरी आंखों की तलाश हो,
    तुम जिंदगी हो मेरी,
    मेरे शायरियो की आवाज हो,

    कोई उदासी पूछे मेरी तो तुम हो,
    मेरे हसीन लम्हे को हलकिसी मुस्कान हो,

    भला मैं कैसे गिला करु तुमसे,
    तुम तो मेरी जान हो!!

  • pratiksha31 43w

    सरल

    ©pratiksha31

    जिंदगी में बेचैनिया हों तो अच्छी बात है,
    यहां इंसान भी सरल किसीको पसंद नहीं आते!!

  • pratiksha31 43w

    तेरी गोद.....!!

    ©pratiksha31

    तेरी गोद में सिर रख कर सोजाऊ,
    बस सो ही जाऊ तो अच्छा हैं,

    इतनी हसीन ख्वाईश में
    मैं मर भी जाऊ तो अच्छा हैं!!

  • pratiksha31 43w

    Jehar

    ©pratiksha31
    शहद सी मिठास हैं,
    लोगो के बरताव में,
    जो जहर सी
    सोच लेके चलते है,

    गुलाब से तुम भी
    मेहक जाना ईनकी बातों में,
    क्युकी इन रास्तों में,
    काटें हजार मिलते है!!

  • pratiksha31 44w

    Aajkal ki baarish!!

    ©pratiksha31

    ये आजकल की बारिश भी,
    तुम्हारी मोहब्बत की तरह होगई हैं,

    बरसती है तब इतना बरसती है,
    वरना देखने को आंखे तरसती हैं!!

  • pratiksha31 44w

    कर्म

    ©pratiksha31


    खैर
    इंसान तो इंसान को माफ भी करदेंगे,

    पर कर्मो का क्या??
    सुना है वहा बड़ी पहचान काम नहीं आती!!

  • pratiksha31 44w

    Khubsurat

    ©pratiksha31

    खुद टूटकर दूसरो के लिए कुर्बान होते देखा है,
    यू फूलों का खूबसूरत होना भी कोई होना है!!

  • pratiksha31 44w

    Itni si mohbbat

    ©pratiksha31
    Itni si mohbbat ki khwaish me,
    Na jane insan kitani dafa tut jata hai,

    Zindagi se har kadam ladte ladte,
    apno se har bar haar jata hai!!