pouredonpaper

pen name स्याह

Grid View
List View
  • pouredonpaper 1w

    मेरे अंदर की बेचैनी को तुम्हें पढ़ना होगा जानेमन
    हम जैसे बेशर्म कभी इज़हार किया नही करते
    ©pouredonpaper

  • pouredonpaper 4w

    मौत आएगी कहीं सीने से लगा लूँगा
    जिंदगी पूछेगी नही नाम भी मेरा
    ©pouredonpaper

  • pouredonpaper 4w

    अना से इश्क़ का सफ़र, है जोख़िम से भरा
    इश्क़ से अना का सफ़र, मौत से गुज़रता है
    ©pouredonpaper

  • pouredonpaper 7w

    It's funny to switch realities in mind. Ain't it?
    #writers #quotes #realities

    Read More

    I'd be idealist a second, realist the next.
    ©pouredonpaper

  • pouredonpaper 9w

    क्यों नशे में सिर्फ तुम ही याद आती हो मुझे
    या यूँ है कि बस तुम्हारी याद का नशा होता है अब
    ©pouredonpaper

  • pouredonpaper 11w

    Emptying some unwritten drafts
    #question #thoughts #drafts

    Read More

    Question

    But when you wanna go down
    How can you lift someone
    ©pouredonpaper

  • pouredonpaper 11w

    आज कुछ ड्राफ्ट्स खाली कर रहा हूँ। शायद आपको अधूरे लगें। वक़्त देने के लिए धन्यवाद।
    #aashaar #couplet #shayari #urdu #hindiwriters

    Read More

    चल दिया पथिक उस राह पर है, जहाँ न कोई कभी चला हो
    ख्वाहिशों की गठरी रख के नीचे, जरूरतें हो पूरी सबका भला हो
    ©pouredonpaper

  • pouredonpaper 11w

    अफ़सोस

    अगर कभी तुम्हारे मन मे,
    किसी चीज़ को पाने की,
    इच्छा जागे।
    या कोई ऐसा काम,
    जिसे करने का ख्याल,
    सहसा ही आकर,
    तुम्हें विचलित कर दें।
    और अगर तुम उसे,
    उस पल मे,
    नज़रअंदाज़ कर देते हो,
    बचकाना सा कह कर।
    मैंने अक्सर ही देखा है,
    ऐसे किस्सों को,
    कसमसाते हुए,
    बार बार,
    मेरे सोते-जागते सपनो मे।
    मैंने अक्सर ही ज़ाया किया है,
    अपनी नादानियों को,
    संज़ीदा बने रहने की ख़ातिर।
    उन सभी भावनाओं मे,
    जिनका जिक्र किया गया है,
    या किया जा सकता है,
    लाइलाज़ बीमारियों की तरह से,
    कविताओं में
    अफ़सोस उन सब मे,
    सबसे गंभीर बीमारी है।
    क्योंकि इसका इलाज़ संभव है सिर्फ,
    वक़्त मे पीछे जाकर।
    बहुत दूर तक,
    अपनी बेचैनियों के पीछे भागते हुए,
    जब तुम उनके स्रोत तक पहुँच जाओगे,
    तब पाओगे की,
    वह ऐसे ही किसी किस्से से शुरू होती होंगी।
    और तब शायद तुम्हें अफ़सोस होगा,
    की तुमने अफ़सोस को समझने मे देरी कर दी।
    ©pouredonpaper

  • pouredonpaper 18w

    A pinch of love can give you a ton of perspective
    ©pouredonpaper

  • pouredonpaper 19w

    करने लगा हूँ अब बातें तुमसे
    सुबह-शाम, दिन-रात
    मन के भीतर
    सुनाने लगा हूँ
    दिन भर घटते किस्से सारे
    और वो एहसास
    जो कभी अनकहे रह गए थे
    अगर तुम पास होती मेरे आज
    तो शायद
    ये अनुभव अधूरा रह जाता
    ©pouredonpaper