• monisha_29 19w

    @29_writing_addict����������

    Read More

    मेरी जिंदगी हो

    मेरे हर लफ्ज़ में समाया है तू
    दिल की खामोशी की आवाज है तू.,
    रिश्तों में सबसे अज़ीज़ है तू
    मेरी जिंदगी भी तू
    मेरी बंदगी भी तू,
    दिल की धड़कन भी तू
    बन्द आंखों का सपना भी तू
    जो हर पल सामने रहता है
    वो चेहरा है तू
    मेरी खुशी भी तू
    मेरा शिकवा भी तू
    तेरे बिन अब हम कहाँ जायें
    क्या सोंचे....
    मेरी प्रीत भी तू
    मेरी जीत भी तू..
    ©monisha_29