• hindikavita 66w

    उम्मीदों की कश्ती को डुबोया नहीं करते
    मंज़िल दूर हो तो थक कर रोया नहीं करते
    रखते हैं जो दिल में उम्मीद कुछ पाने की
    वो लोग जिन्दगी में कुछ खोया नहीं करते
    मंज़िल से आगे बढ़ कर मंज़िल तलाश कर
    मिल जाए तुझको दरिया गर तो समंदर तलाश कर