• anshuman_mishra 7w

    नदी-संसार = नदी रूपी संसार
    @raakhaa_ thanks for requesting for this����

    जब कुछ भी समझ नहीं आता, तब राम समझ आते हैं..♥️

    Read More

    नमन हे राम!

    नमन हे राम!
    सर्वप्रिय नाम,
    सकल सुख धाम,
    बनाओ काम,

    नमन हे तात!
    भानुकुलनाथ,
    रहो तुम साथ,
    पकड़ कर हाथ,

    प्रभो मैं दीन,
    दशा अति हीन,
    कि जल बिन मीन,
    दुखों में लीन!

    प्रभो मैं दास,
    न तोड़ो आस,
    जगा विश्वास,
    बुझाओ प्यास!

    नदी-संसार,
    तेज है धार,
    करो उपकार,
    लगाओ पार!

    _अंशुमान मिश्र__