• garima_myra_elsa 84w

    कुछ था अधूरा सा
    कुछ कहा और अनकहा
    कुछ पूरा हो गया
    कुछ अधूरा ही रह गया
    कुछ तो खोया जिंदगी से
    कुछ मिल गया तो कहीं खो गया
    अब ना तो सुकून है और ना ही बेचैनी
    बस रह गई एक कशमकश है
    जो ना थी और ना होगी कभी पूरी
    ©Vidhi_$haran