• parihar_sahab 53w

    आओ कभी महफ़िल जमाते हैं,
    अपने दिल की बातें तुम्हें बताते हैं..
    नहीं पता मुकद्दर में क्या लिखा है हमारे,
    बस ज़िन्दगी के कुछ पल सुकून से मुस्कुराते हैं॥
    ©parihar