• mrig_trishna_ 17w

    मज़ार हमारी बनाकर के लोग थूकने आये
    मिला न सुकूँ दबाकर तो फिर फूँकने आये
    ©mrig_trishna_nomore