• amar61090 28w

    मुझें आना हैं तेरी शादी में,

    देखना हैं तेरे आंगन को,

    निहारना हैं तेरे साजन को,


    कैसा होगा रंग रूप उसका,

    देख कर इतना ही तो जान सकता हूँ,

    मैं तो इतना अभागा हूँ

    उससे तेरी खुशियां भी कहाँ मांग सकता हूँ,