• radhawrites 8w

    तुमको भूला रही थी कि तुम याद आये
    रातरानी खुशबू महका रही थी कि तुम याद आये
    चाँद निकल रहा था
    छत पर प्यारी सी गज़ल सुन रहे थे कि तुम याद आये
    ज़हर पी रहे थे ......
    कि ......
    तुम याद आये .......
    ©radhawrites