• succhiii 31w

    बच्चे कितने भी बड़े हो जायें , पर माँ के लिए वो सदा बच्चे ही होते हैं ..मेरे मन के बच्चे ने अपनी माँ की याद में कुछ लिखने की कोशिश की है …जो आज इस दुनिया में नहीं …विश्वास नहीं होता कल तक जो हमारे आँखो के सामने थीं वो अचानक कहाँ चली गई 🥺इस महामारी ने उसे हमसे छीन लिया , 😭माँ तुम जहाँ हो ख़ुश रहना उस परम पिता परमात्मा के गोद में अब कोई दूख़ कोई कष्ट नहीं , न कोई महामारी है …तेरी बेटी तेरे बिन बहुत उदास है , सपने में आना , बहुत सी बातें करनी हैं 🥺

    Read More

    माँ

    माँ ! तेरी याद बहुत आती है
    हमें बहुत …..रुलाती है ।

    देखने को वो प्यारी सूरत
    आँखे अब तरस जाती हैं ।

    आँचल वो ममता वाली
    तेरी बेटी अब कहाँ पाती है ।

    बातें कुछ अधूरी- अनसुनी
    माँ ! वो आज भी बाक़ी है ।

    ज़फ़्फ़ी वो दुआओं वाली
    कहाँ अब मिल पाती है ।

    वहाँ दूर गगन में तारा बन
    तू ही तो झिलमिलाती है ।

    आंख़ो के कोरों से दिल तक
    तेरी तस्वीर उभर आती है ।

    माँ ! तेरी याद बहुत आती है
    तेरी याद …बहुत आती है ।
    @succhiii