• awakening 69w

    स्त्री क्या वजूद है तेरा,
    दिया जनम तूने जिस संसार को,
    उसी संसार में न कोई अपना तेरा,
    लगाते है लोग बुरी नज़र तेरे अरमानो को,
    कुचलते है लोग तेरे हर जज्बातो को,

    बता स्त्री क्या वजूद है तेरा,
    खड़े है लोग देखने तेरे हालातों को,
    है तैयार तुझे जलाने को,
    बोल स्त्री क्या सोच रही है,

    क्या डर है जिसे तू छिपा रही है,
    जहा तुझे पूजा करते थे,
    आज वही सब तुझे शर्मसार करे फिरते है,
    जिससे जुड़ा है नाता तेरा,

    वही कर रहा चीर-हरण तेरा,
    जहाँ तेरे पैदा होने पर देवी कहा जाता था,
    आज तुझे कोख में मारा जाता है,
    बता स्त्री क्या तूने ये सोचा था,
    बोल न स्त्री क्या कसूर है तेरा,
    आखिर कहा बचा है सम्मान तेरा..!!

    ©awakening