• psprem 27w

    हर जीवन की गठरी में ,खुशियां भी हैं गम भी हैं।
    ये बात सभी के साथ है,इसमें तुम भी हो हम भी हैं।
    अब ये सोच हमारी है कि,खुशियां बांटे या गम बांटे।
    जैसा चाहें वैसा करले, इसमें नम भी है और दम भी है।
    ©psprem