• bimalpathak 112w

    अल्फ़ाज़ नही जज़्बात लिखता हूँ
    कभी अपनी तो कभी तुम्हारी याद लिखता हूँ,
    किन किन पलों मे कैसे कैसे मिले थे हम
    बस वोही पुरानी बाते हर रात लिखता हूँ।
    ©bimalpathak