• vinaypandey84 9w

    बापू ना ये सिर्फ नाम है ये है एक सोच।
    अंधियारो में रोशनी को तलाशना ये थी उनकी खूबी।
    अपने हक के खातिर मुस्कुराके न्याय से है पार पाना ये बापू का था हम सबको संदेश।
    हार कभी ना मानी जिसने वो था बापू के हौसलो का दृढ़ संकल्प।
    हिंसा से कोसों दूर है रैहना ये था बापू का व्यक्तित्व।
    अहिंसा परमो धर्म है ये उनका था उद्देश।
    फल दार वृक्ष हमेशा झुका हुआ सा ये वर्णन है सही व्यक्ति की व्याख्या।
    ये बापू की एक सोच ही थी जिसने अग्रेजो को कर कानून को भंग करने पे किया था मजबूर दांडी यात्रा नामक(नमक सत्याग्रह) सत्याग्रह ने बदली थी हम सबकी तकदीरे...✍️ विनय पांडे
    ©vinaypandey84