• ishq_allahabadi 23w

    ज़ेरे नज़र = नज़र के नीचे
    साजिद = सजदा करने वाला
    चारागर = इलाज करने वाला।

    #mirakee #ghazal #writersnote #hindinama #lekhni #urdupoetry #urdu #sadshairi #mirakeewriters

    Read More

    ग़ज़ल

    सौ हाल ज़िन्दगी के हैं तुमको सुनाएँ क्या,
    हम कितना मर चुके हैं ये तुमको बताएँ क्या ।

    दिल को जला के राख़ किया और धुआं किया,
    अब क्या बचा है पास के अब हम जलाएँ क्या ।

    ज़ेर-ए-नज़र हुआ जो तिरा शहर तो पाया,
    साजिद नहीं है कोई तो मूरत बनाएँ क्या ।

    गर आती है दरार तो फिर फ़ायदा नहीं ,
    दिल टूट अगर जाए तो उसको मिलाएँ क्या ।

    इस हाल पर हँसी है मिरे ज़िन्दगी बहुत,
    हम रो चुके हैं इतना कि ख़ुद को हसाएँ क्या।

    होता नहीं दवा का असर "इश्क़ " में तो फिर,
    ऐ चारागर बता कि दवा हम ये खाँए क्या ।
    ©ishq_allahabadi