• riya_bakshi 10w

    पसंद

    खुद की पसंद भी कभी नापसंद होती है।
    क्या उसमे बे-वजह की नाराजगी की गुंजाइश होती हैं।
    झूठे किरदार निभाते निभाते याद नहीं आई हमारी।
    इतनी जल्दी पसंद बदल गई समझ नहीं पाए तुम्हारी।
    ©riya_bakshi