• rangkarmi_anuj 52w

    बरगद

    घर के बाहर
    लगा हुआ बरगद
    का पेड़ कल रात
    की आंधी में
    लड़खड़ा गया,
    मानो कोई बुज़ुर्ग
    एक बुरी घटना
    से घबरा गया।

    तेज़ आंधी की
    रफ़्तार सबको
    उजाड़ने में लगी
    हुई थी, उसके
    तेज़ झकटे बरगद
    की पत्तियों और
    डगालों को तोड़ने
    में लगी हुई थी,
    बरगद ने जड़ो को
    थामे रखा और
    पत्तियों और डगाल
    को बचा लिया,
    मानो एक बुज़ुर्ग ने
    कर्ज़ में डूबे हुए
    अपने बच्चों को
    बचा लिया,

    घर के बाहर
    लगा हुआ बरगद
    का पेड़ कल रात
    की आंधी में
    लड़खड़ा गया,
    मानो कोई बुज़ुर्ग
    एक बुरी घटना
    से घबरा गया।
    ©rangkarmi_anuj