• artiest_ajay 58w

    तू एहसास एहसास कहती रही ,
    मैं हर्फ़ हर्फ़ लिखता रहा...

    तू पास पास आती गयी ,
    मैं सांस सांस छूता गया ...

    तू कब दूर दूर होने लगी,
    मैं रोम रोम रोता गया...!

    ©artiest_ajay