• singhlakshmi 7w

    041221
    17:12

    Read More

    जहां हम और हमारी ज़िंदगी मिलते हैं,
    वहां बस झूठ बस्ते हैं।