• anshulaftaab 19w

    हर शख्स यहाँ,
    ख़ुदा बनने की ज़ल्दी में है,

    मेरी इबादत में मेरा ख़ुदा,
    मेरे ज़मीर के सिवा कोई नही!

    "अंशुल"

    ©anshul