• riya_bakshi 7w

    हसीं ❌

    हँसी तुम्हारी नाजायज़ समझ नहीं आती है।
    हम जानते हैं अब हमारी सूरत नहीं भाती है।
    पर तुम थोडा कम हँसना हम पर कयोंकि दूसरों
    पर हँसना इंसान की बेशर्मी कहलाती हैं।
    ©riya_bakshi