• lafzgiri 32w

    ग़ालिब

    इशरत-ए-क़तरा है दरिया में फ़ना हो जाना 
    दर्द का हद से गुज़रना है दवा हो जाना...

    Lafzgiri